Forex Archives - earn money online hindi news: Sunnywebmoney.com

SunnyAugust 18, 2018
Reserve-Bank-Reuters.jpg

5min00


भारत

भारतीय रिज़र्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, बीते चार माह में विदेशी मुद्रा भंडार में क़रीब 1 लाख 80 हज़ार करोड़ रुपये की कमी आई है. डॉलर के मुकाबले रुपया कमज़ोर होने के चलते केंद्रीय बैंक ने रुपये को मजबूती प्रदान करने के लिए डॉलर की बिकवाली की है.

मुंबई: देश का विदेशी मुद्रा भंडार 13 अप्रैल से 10 अगस्त के बीच करीब चार माह में 25.15 अरब डॉलर घट चुका है. इस साल की शुरुआत से रुपये की विनिमय दर में आती गिरावट के कारण रिजर्व बैंक ने घरेलू मुद्रा को मजबूती प्रदान के लिए डॉलर की बिकवाली की जिससे विदेशी मुद्रा भंडार घटा है.

रिजर्व बैंक के ताजा आंकड़ों के अनुसार विदेशी मुद्रा भंडार 13 अप्रैल 2018 को समाप्त सप्ताह में रिकॉर्ड 426.028 अरब डॉलर पर पहुंच गया था जो 10 अगस्त को समाप्त सप्ताह के दौरान एक समय 400.88 अरब डॉलर तक गिर गया था.

हालांकि, आधिकारिक रूप से आरबीआई रुपये को किसी निश्चित स्तर पर बनाये रखने को प्रतिबद्ध नहीं है लेकिन मुद्रा भंडार में बड़ी गिरावट से साफ है कि केंद्रीय बैंक घरेलू मुद्रा को संबल प्रदान करने के लिए डॉलर की बिकवाली कर रहा है.

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया 70.15 के ऐतिहासिक रूप से न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया.

आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार, पिछले सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार 1.489 अरब डॉलर घटकर 402.70 अरब डॉलर रह गया था. हालांकि, 10 अगस्त को समाप्त सप्ताह में स्वर्ण भंडार 14.56 करोड़ डॉलर बढ़कर 20.69 अरब डॉलर रहा.

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyAugust 18, 2018
2018_8image_08_50_178694610dollar-ll.jpg

3min00

  • Aries (मेष)

    मेष राशि वालों आज की बिज़नेस यात्रा सफल होगी। आपकी ख्याति, प्रतिष्ठा और सम्मान बढ़ेगा। वाणी पर संयम……Read more

  • Taurus (वृषभ)

    वृष राशि वालों आज का दिन आपके परिवार के लिए काफी अच्छा है। फैमिली मेम्बर्स के साथ किया गया काम सफल……Read more

  • Gemini (मिथुन)

    मिथुन राशि वालों आज भगवान में गहराई से आपकी आस्था बढ़ेगी। आज राजनीति में आपका रुतबा बढ़ेगा।…Read more

  • Cancer (कर्क)

    कर्क राशि वालों आज आप तनाव महसूस कर सकते हैं लेकिन शाम तक आप इस मानसिक तनाव से बाहर आ सकते हैं।…Read more

  • Leo (सिंह)

    सिंह राशि वालों आज नई नौकरी मिलने का योग है। आज आर्थिक स्थिति थोड़ी टाइट रहेगी। इस राशि के……Read more

  • Virgo (कन्या)

    कन्या राशि वालों आज किसी यात्रा पर जाने की प्लानिंग कर सकते हैं। किसी दूर स्थान या विदेश से प्यार……Read more

  • Libra (तुला)

    तुला राशि वाले अपने काम को समय पर पूरा करेंगे। आज व्यापार में नए एग्रीमेंट न साईन न करें। आज घर में……Read more

  • Scorpio (वृश्चिक)

    वृश्चिक राशि वालों आज आप काफी रोमांटिक मूड में रहेंगे। परिवार के साथ टूर पर जाने का प्रोग्राम बना……Read more

  • Sagittarius (धनु)

    धनु राशि वालों मुश्किल कामों में सोच-समझकर ही हाथ डालें। विचारों में पॉजिटिव रहें। अच्छे लोगों से……Read more

  • Capricorn (मकर)

    मकर राशि वालों आज आपके बिगड़े काम बनेगें तथा अधिकारियों से आपकी मित्रता के कारण आपको लाभ प्राप्त……Read more

  • Aquarius (कुंभ)

    कुम्भ राशि वालों की आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। आलस्य का त्याग करना चाहिए। कार्य में सफलता मिलने के……Read more

  • Pisces (मीन)

    मीन राशि वालों आज आप संघर्ष एवं कार्य शक्ति से अपने कार्यों को पूरा करेंगे। आज आपकी अर्थव्यवस्था……Read more

  • Let’s block ads! (Why?)


    Source link


    SunnyAugust 18, 2018
    dollar-rupees-34_5.jpg

    1min10

    नई दिल्‍ली:  

    डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट से देश के विदेश मुद्रा भंडार को 1.75 लाख करोड़ रुपए का झटका लगा है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार अपने ऑलटाइम हाई से 25.14 अरब डालर नीचे आ चुका है। अप्रैल में देश का विदेश मुद्रा भंडार 426.02 अरब डॉलर था, जो 10 अगस्‍त को घटा कर 400.88 अरब डॉलर रह गया। यह जानकारी रिजर्व बैंक की तरफ से जारी आंकड़ों में सामने आई है।

    और पढ़े : अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर चल रही है पेंशन योजना, 210 रु महीने के निवेश पर मिलेगी 5000 रु की मासिक पेंशन

    डॉलर के मुकाबले लगातार गिरते रुपये को थामने के लिए देश के रिजर्व बैंक लगातर दखल दे रहा था, जिससे विदेशी मुद्रा भंडार यह कमी दर्ज हुई है। कोटक सिक्युरिटीज के करेंसी और इंटरेस्ट रेट के प्रभारी अनिंद्य बनर्जी के मुताबिक यह गिरावट आरबीआई की तरफ से रुपए की गिरावट को रोकने के लिए दी गई दखल के कारण आई है। आरबीआई बैंकों के माध्यम से बाजार में डॉलर की खरीदारी या बिक्री करता है, जिससे रुपए की दर स्थिर बनी रहे। विश्लेषकों के मुताबिक रुपए में गिरावट का रुझान अगले सप्ताह भी बना रह सकता है। 


    First Published: Saturday, August 18, 2018 10:26 AM

    Let’s block ads! (Why?)


    Source link


    SunnyAugust 17, 2018
    NBT.jpg

    2min30

    [ गायत्री नायक | मुंबई ]

    अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मानकों के हिसाब से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के पास विदेशी मुद्रा भंडार को लेकर ऐसी सहूलियत है, जो चीन के पास नहीं है। आईएमएफ के ‘रिजर्व एडिक्वेसी’ के मानक पर भारत की स्थिति चीन और दक्षिण अफ्रीका से बेहतर है। रिजर्व एडिक्वेसी में रिजर्व, विदेशी कर्ज, आयात और इनवेस्टमेंट फ्लो को शामिल किया जाता है। रिजर्व बैंक ने हाल में 20 अरब डॉलर बेचे हैं, लेकिन अर्थशास्त्रियों के अनुमान के मुताबिक रुपये को सपोर्ट देने के लिए वह 8-10 पर्सेंट विदेशी मुद्रा भंडार का और इस्तेमाल कर सकता है।

    भारत के पास अभी 402 अरब डॉलर का विदेशी मुद्रा भंडार है। उसका रिजर्व एडिक्वेसी 150.7 पर्सेंट है, जबकि चीन के लिए यह 85.9 पर्सेंट और दक्षिण अफ्रीका के लिए 64.2 पर्सेंट है। इस बारे में डीबीएस की चीफ इंडिया इकनॉमिस्ट राधिका राव ने एक नोट में लिखा है, ‘इस पैमाने के हिसाब से भारत कंफर्टेबल पोजिशन में है।’ इसमें लिखा गया है कि एक्सटर्नल चैलेंज बढ़ने भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में और 5-8 पर्सेंट की गिरावट आ सकती है, लेकिन उससे एडिक्वेसी पर बहुत फर्क नहीं पड़ेगा।

    रिजर्व एडिक्वेसी के 100-150 पर्सेंट रहने पर माना जाता है कि देश बाहरी झटकों को आसानी से सामना कर सकता है। आईएमएफ के मुताबिक, इस रिजर्व से मुश्किल हालात में कितनी विदेशी मुद्रा की जरूरत पड़ सकती है, इसका पता चलता है। वहीं, रिजर्व के एक हिस्से को बफर के तौर पर रखना होता है।

    भारत का विदेशी मुद्रा भंडार अप्रैल के 426 अरब डॉलर से घटकर अगस्त की शुरुआत में 403 अरब डॉलर रह गया था। रिजर्व बैंक ने रुपये को स्टेबल बनाए रखने के लिए 23 अरब डॉलर की विदेशी मुद्रा का इस बीच इस्तेमाल किया। हालांकि, इसके बावजूद डॉलर के मुकाबले रुपया 70 के नए लो पर पहुंच गया है। राव ने बताया कि कैपिटल फ्लो कम रहने की वजह से इस साल भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़ोतरी की संभावना नहीं दिख रही है। इससे करंट एकाउंट पर दबाव बन सकता है।

    एक्सटर्नल सेक्टर के इंडिकेटर्स से लग रहा है कि भारत के लिए फिर 2013 जैसे हालात बन रहे हैं। तब रिजर्व बैंक को स्पेशल स्कीम का ऐलान करके विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़ोतरी करनी पड़ी थी। जेपी मॉर्गन के चीफ इंडिया इकनॉमिस्ट साजिद चिनॉय ने कहा, ‘इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बाहरी झटकों को झेलने के लिहाज से 2013 के मुकाबले आज भारत कहीं बेहतर स्थिति में है। महंगाई दर कम है। चालू खाता घाटा बढ़ रहा है, लेकिन यह 2013 के लेवल तक नहीं पहुंचा है। विदेशी मुद्रा भंडार भी अधिक है। हालांकि, हम विदेशी झटकों के असर से बचे नहीं रहेंगे।’

    Let’s block ads! (Why?)


    Source link


    SunnyAugust 16, 2018
    1531497916_TN_placeholder.png

    1min20

    Rupee at Lowest Level: रुपया अाज अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है। डॉलर के मुकाबले रुपया आज फिर गिरा। आज रुपया 70.32 के स्तर पर पहुंच गया।

    रुपए में लगातार गिरावट जारी।

    नई दिल्ली: शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया आज 43 पैसे गिरकर 70.32 पर पहुंच गया जो इसका सर्वकालिक निचला स्तर है। मु्द्रा बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले रिकॉर्ड निचले स्तर 70.25 पर खुला और जल्द ही कुल 43 पैसे टूटकर 70.32 पर पहुंच गया। पिछले सत्र के कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 69.89 के निम्न स्तर पर बंद हुआ था।

    मुद्रा कारोबारियों के अनुसार आयातकों की ओर से अमेरिकी मुद्रा की जबरदस्त मांग और विदेशी पूंजी की निकासी से घरेलू मुद्रा में कमजोर रुख देखा गया। इसके अलावा मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार व्यापार घाटे में अधिक बढ़ोत्तरी का भी रुपया पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश का व्यापार घाटा पांच साल के उच्च स्तर यानी 18 अरब डॉलर पर पहुंच गया है।

    केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कल कहा था कि मुद्रा बाजार में किसी भी तरह के अनावश्यक उतार-चढ़ाव से निपटने के लिये देश के पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा भंडार है। इसके अलावा, पूरे घटनाक्रम पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। जेटली की यह टिप्पणी डॉलर के मुकाबले रुपये के रिकॉर्ड निम्न स्तर पर पहुंचने के एक दिन बाद आई थी। तुर्की के आर्थिक संकट और उसकी मुद्रा लीरा में भारी गिरावट को लेकर उभरी चिंताओं के बीच कल के कारोबार में रुपया एक समय 70.09 रुपये प्रति डॉलर तक नीचे चला गया था।

    जेटली ने ट्वीट में कहा, ‘तुर्की के आर्थिक संकट और डॉलर में मजबूती से उभरते हुये देशों की मुद्राओं के लिये जोखिम उत्पन्न हुआ है। हालांकि, देश के वृहद आर्थिक कारक मजबूत बने हुये हैं।’ जेटली ने कहा, ‘भारत का विदेशी मुद्रा भंडार अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप संतोषजनक स्थिति में है और यह विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अनुचित उतार-चढ़ाव को कम करने के लिये पर्याप्त है।’ भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, तीन अगस्त को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 402.70 अरब डॉलर था, जो इससे पिछले सप्ताह से 1.49 अरब डॉलर कम था।

    [embedded content]

    कारोबार  से जुड़ी और खबरें  यहां  पढ़ें BUSINESS NEWS , टेक्नोलॉजी सेक्शन के लिए  TECH NEWS पर क्लिक करें  और कार, बाइक से जुड़ी खबरें AUTO NEWS में पढ़ें। देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से।

    Let’s block ads! (Why?)


    Source link


    SunnyAugust 15, 2018
    arun_jetli20180815174718_l.jpg

    2min40

    नई दिल्ली, 15 अगस्त (आईएएनएस)| रुपया के रिकार्ड स्तर पर नीचे गिरने के एक दिन बार केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में किसी भी प्रकार की अस्थिरता से निपटने के लिए भारत के पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा भंडार है।

    भू-राजनैतिक दवाबों के साथ विदेशी मुद्रा के देश से बाहर जाने और कच्चे तेल की उच्च कीमतों के कारण रुपया मंगलवार को ऐतिहासिक निचले स्तर एक डॉलर के मुकाबले 70.08 रुपये तक पहुंच गया।

    हालांकि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा बाजार में दखल देने से रुपये में गिरावट कुछ थमती दिखी।

    मंगलवार को विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार बंद होने तक रुपया मजबूत होकर 69.90 रुपये प्रति डॉलर की दर पर बंद हुआ, जबकि सोमवार को यह 69.94 रुपया प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।

    जेटली ने ट्वीट किया, विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में किसी भी प्रकार की अस्थिरता से निपटने के लिए भारत के पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा भंडार है।

    आनंद राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स के शोध विश्लेषक रुषभ मारू ने कहा, उभरते और विकसित बाजारों की मुद्राएं भी गिर रही हैं, इसलिए आरबीआई बाजार में आक्रामकता से हस्तक्षेप नहीं कर रही है।

    (ये खबर सिंडिकेट फीड से ऑटो-पब्लिश की गई है. हेडलाइन को छोड़कर क्विंट हिंदी ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.)

    (यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

    Let’s block ads! (Why?)


    Source link


    SunnyAugust 15, 2018
    arun-jaitley.jpg

    2min30

    अरुण जेटली
    नई दिल्ली

    केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि मुद्रा बाजार में किसी भी तरह के अनावश्यक उतार-चढ़ाव से निपटने के लिए देश के पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा भंडार है। इसके अलावा, पूरे घटनाक्रम पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। जेटली की यह टिप्पणी डॉलर के मुकाबले रुपये के रेकॉर्ड निम्न स्तर पर पहुंचने के एक दिन बाद आई है।

    तुर्की के आर्थिक संकट और उसकी मुद्रा लीरा में भारी गिरावट को लेकर उभरी चिंताओं के बीच मंगलवार के कारोबार में रुपया एक समय 70.09 रुपये प्रति डॉलर तक नीचे चला गया था। जेटली ने ट्वीट में कहा, ‘तुर्की के आर्थिक संकट और डॉलर में मजबूती से उभरते हुए देशों की मुद्राओं के लिए जोखिम उत्पन्न हुआ है। हालांकि, देश के वृहद आर्थिक कारक मजबूत बने हुए हैं।’

    जेटली ने कहा, ‘भारत का विदेशी मुद्रा भंडार अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप संतोषजनक स्थिति में है और यह विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अनुचित उतार-चढ़ाव को कम करने के लिए पर्याप्त है।’ जेटली 14 मई को किडनी प्रत्यारोपण सर्जरी के लिए जाने से पहले वित्त एवं कंपनी कार्य मंत्रालय का कामकाज देख रहे थे। इलाज के दौरान उनकी अनुपस्थिति में पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

    जेटली ने आगे कहा कि अतंरराष्ट्रीय बाजार में अस्थिरता को देखते हुए किसी भी स्थिति से निपटने के लिए मुद्रा बाजार में हो रही सभी हलचलों पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, 3 अगस्त को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 402.70 अरब डॉलर था, जो इससे पिछले सप्ताह से 1.49 अरब डॉलर कम था।

    Let’s block ads! (Why?)


    Source link


    SunnyAugust 15, 2018
    logo_1.png

    1min20


    भारत का विदेशी मुद्रा भंडार करेंसी मार्केट की अस्थिरता से निपटने के लिए पर्याप्त: अरुण जेटली – Hindi News, India TV Restricted Service

    Thanks for visiting Khabarindia TV We have restricted our service in your region for the time being. Sorry for the inconvenience.

    Let’s block ads! (Why?)


    Source link