Forex Archives - earn money online hindi news: Sunnywebmoney.com

SunnySeptember 21, 2018
dollar-rupee-21_5.jpg

1min10

नई दिल्‍ली:  

डॉलर के मुकाबले रुपए में शुक्रवार को Forex Market में सुबह से ही जोरदार बढ़त दर्ज हुई. रुपया आज 52 पैसे बढ़कर 71.85 पर खुला है. पिछले कारोबारी दिन यानि बुधवार को भी डॉलर के मुकाबले रुपए में शानदार रिकवरी आई थी. बुधवार को रुपया 61 पैसे की बढ़त के साथ 72.37 के स्तर पर बंद हुआ था.

रुपए की मजबूती का ये है कारण

रुपए में मजबूती का कारण निर्यातकों और बैंकों की तरफ से डॉलर की विकवाली के चलते आई है. इसके अलावा ट्रेड वार की चिंता भी दूर होने के चलते डॉलर में नरमी का रुख रहा है. इसके चलते भी रुपए को सहारा मिला है.

सेंसेक्‍स में भी तेजी

पॉजिटिव ग्लोबल संकेतों से शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत बढ़त के साथ हुई. सेंसेक्स 291 अंकों की उछाल के साथ 37,413 के स्तर पर खुला. जबकि निफ्टी की शुरुआत 90 अंकों की तेजी के साथ 11,324 के स्तर पर हुई. बैंकिंग, FMCG, मेटल, फार्मा और रियल्टी शेयरों में बढ़त से सेंसेक्स को मजबूती मिली है. 


First Published: Friday, September 21, 2018 09:22 AM

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnySeptember 21, 2018
2721092018093432.jpg

1min20

विदेशी मुद्रा भंडार 1.2 अरब डॉलर से बढ़कर 400.5 अरब डॉलर हुआ 

मुंबई : भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार विदेशी मुद्रा आस्तियों में वृद्धि से 14 सितंबर को समाप्त सप्ताह में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.207 अरब अमेरिकी डॉलर बढ़कर 400.489 अरब डॉलर हो गया। इससे पिछले सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार 81.95 करोड़ अमरीकी डॉलर घटकर 399.82 अरब डॉलर रह गया। आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन सप्ताह में, कुल मुद्राभंडार का एक प्रमुख घटक यानी विदेशी मुद्रा आस्तियां 1.055 अरब अमेरिकी डॉलर बढ़कर 376.154 अरब डॉलर हो गया।

अमेरिकी डॉलर में अभिव्यक्त किये जाने वाले, भंडार में रखे विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों यूरो, पाउंड और येन जैसे गैर-अमेरिकी मुद्राओं की मूल्यवृद्धि अथवा मूल्यह्रास के प्रभावों को भी शामिल करता है। विदेशी मुद्रा भंडार 13 अप्रैल, 2018 को समाप्त सप्ताह में 426.028 अरब अमरीकी डालर के रिकॉर्ड ऊंचाई को छू गया था, लेकिन उसके बाद से इसमें गिरावट रही है। 

विदेशी मुद्रा विश्लेषकों के मुताबिक, मुद्रा भंडार में गिरावट का मुख्य कारण रुपये की गिरावट को थामने के लिए रिजर्व बैंक का विदेशी मुद्रा भंडार में हस्तक्षेप करना था। समीक्षाधीन सप्ताह में,स्वर्ण आरक्षित भंडार 14.4 करोड़ अमरीकी डॉलर बढ़कर 20.378 अरब डॉलर हो गया।

अंतर्राष्टरीय मुद्रा कोर्ष आईएमएफ के साथ विशेष निकासी अधिकार 28 लाख अमरीकी डॉलर बढ़कर 1.478 अरब डॉलर हो गया। शीर्ष बैंक ने कहा कि आईएमएफ के साथ देश की आरक्षित भंडार भी 49 लाख अमरीकी डॉलर बढ़कर 2.478 अरब डॉलर हो गया।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title:
Foreign exchange reserves rose from $ 1.2 billion to $ 400.5 billion

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnySeptember 21, 2018
NBT.jpg

1min10

मुंबई, 21 सितंबर (भाषा) भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार विदेशी मुद्रा आस्तियों में वृद्धि से 14 सितंबर को समाप्त सप्ताह में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.207 अरब अमेरिकी डॉलर बढ़कर 400.489 अरब डॉलर हो गया। इससे पिछले सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार 81.95 करोड़ अमरीकी डॉलर घटकर 399.82 अरब डॉलर रह गया। आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन सप्ताह में, कुल मुद्राभंडार का एक प्रमुख घटक यानी विदेशी मुद्रा आस्तियां 1.055 अरब अमेरिकी डॉलर बढ़कर 376.154 अरब डॉलर हो गया। अमेरिकी डॉलर में अभिव्यक्त किये जाने वाले, भंडार में रखे विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों यूरो, पाउंड और येन जैसे गैर-अमेरिकी मुद्राओं की मूल्यवृद्धि अथवा मूल्यह्रास के प्रभावों को भी शामिल करता है। विदेशी मुद्रा भंडार 13 अप्रैल, 2018 को समाप्त सप्ताह में 426.028 अरब अमरीकी डालर के रिकॉर्ड ऊंचाई को छू गया था, लेकिन उसके बाद से इसमें गिरावट रही है। विदेशी मुद्रा विश्लेषकों के मुताबिक, मुद्रा भंडार में गिरावट का मुख्य कारण रुपये की गिरावट को थामने के लिए रिजर्व बैंक का विदेशी मुद्रा भंडार में हस्तक्षेप करना था। समीक्षाधीन सप्ताह में,स्वर्ण आरक्षित भंडार 14.4 करोड़ अमरीकी डॉलर बढ़कर 20.378 अरब डॉलर हो गया। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ विशेष निकासी अधिकार 28 लाख अमरीकी डॉलर बढ़कर 1.478 अरब डॉलर हो गया। शीर्ष बैंक ने कहा कि आईएमएफ के साथ देश की आरक्षित भंडार भी 49 लाख अमरीकी डॉलर बढ़कर 2.478 अरब डॉलर हो गया।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnySeptember 21, 2018
2018_9$thumbimg21_Sep_2018_190533343.jpg

3min10


More News

21 Sep 2018 | 7:05 PM

नयी दिल्ली 21 सितंबर (वार्ता) इमेजिंग क्षेत्र की प्रमुख कंपनी कैनन ने भारतीय बाजार में फुल फ्रेम मिररलेस कैमरा ईओएस आर लाँच करने की घोषणा की है।

 Sharesee more..

अब जियो टीवी पर देख सकेंगे क्रिकेट मैच21 Sep 2018 | 6:56 PM

नयी दिल्ली 21 सितंबर (वार्ता) दूरसंचार क्षेत्र की प्रमुख कंपनी रिलायंस जियो ने स्टार इंडिया के साथ पांच साल का करार किया है। इस करार के तहत जियो यूजर्स अब टेलीविजन से प्रसारित होने वाले भारत के सभी मैच का आनंद जियो टीवी पर उठा पायेंगे।

 Sharesee more..

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnySeptember 20, 2018
delhi-igi-airport_3436579_835x547-m.jpg

1min30

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में बदमाशों का आतंक पर लगाम नहीं लग पा रहा है। मंगलवार को दिल्ली हवाईअड्डे पर एक व्यक्ति को 51.64 लाख रुपए की विदेशी मुद्रा के साथ गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि बुधवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि मंगलवार को हवाईअड्डे पर विदेशी मुद्रा की कथित रूप से तस्करी की कोशिश कर रहे एक भारतीय को सीमा शुल्क अधिकारियों ने गिरफ्तार किया है। सीमा शुल्क विभाग ने बयान में यह भी कहा है कि आरोपी व्यक्ति बैंकॉक जा रहा था। जब वह हवाईअड्डे पर पहुंचा तो सुरक्षा कर्मियों को उसेक हावभाव से कुछ शक हुआ। जब सुरक्षा कर्मियोंने यात्री की जांच और उसके सामान की तलाशी ली तो उसके पास से 72 हजार डॉलर की विदेशी मुद्रा बरामद हुई। इसे देखकर सुरक्षाकर्मियों के होश उड़ गए। बता दें कि आरोपी ने इतनी बड़ी राशि अवैध तरीके से देश के बाहर ले जाने के लिए छिपा कर रखी थी। सुरक्षाकर्मियों ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और उसके पास से मिली अवैध धनराशि को जब्त कर लिया है।

दिल्ली: बदमाशों ने पहले ऑटो ड्राइवर से की लूटपाट फिर बनाए अप्राकृतिक संबंध, गिरफ्तार

इससे पहले भी ऐसे कई मामले आएं हैं सामने

आपको बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है जब किसी व्यक्ति को दिल्ली हवाईअड्डे पर अवैध गतिविधियों के कारण हिरासत में लिया गया हो। इससे पहले बीते महिने ही इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) ने इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (आईजीआई) हवाई अड्डे से एक पैसेंजर को 44900 अमरीकी डॉलर के साथ गिरफ्तार किया था। पैसेंजर अपने हैंड बैग में एक प्लास्टिक के बिस्कुट जार के अंदर गुप्त तरीके से छुपाकर ले जा रहा था। सीआइएसएफ ने पैसेंजर को गिरफ्तार कर आईजीआई के कस्टम अधिकारियों को सौंप दिया था।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnySeptember 20, 2018
NBT.jpg

1min40

नयी दिल्ली, 20 सितंबर (भाषा) कच्चे तेल के दाम, घरेलू राजनीतिक परिस्थितियां, वैश्विक स्तर पर ब्याज दरें और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापार को लेकर घटनाक्रम निकट भविष्य में शेयर बाजारों को प्रभावित करेंगे। विशेषज्ञों ने यह राय जताई है। रुपये की कमजोरी, कच्चे तेल की ऊंची कीमतों, विदेशी कोषों की निकासी तथा अमेरिका और चीन के बीच व्यापार को लेकर तनाव बढ़ने से हाल के समय बाजार की धारणा प्रभावित हुई है। विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशकों की निगाह अब इस साल कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव पर रहेगी। सेंट्रम ब्रोकिंग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं शोध (संपदा) प्रमुख जगन्नधाम तुनुगुंटला ने कहा कि भारतीय बाजार को इस समय कई मोर्चों पर समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। रुपये अपने सर्वकालिक निचले स्तर पर है तो बांड प्राप्ति बढ़ी तथा कच्चे तेल के दाम ऊंचाई पर हैं। उन्होंने कहा कि इस साल कई राज्यों में विधानसभा चुनाव तो 2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं। इन सब कारणों से भारतीय बाजार प्रभावित रहेंगे। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स इस साल नौ प्रतिशत चढ़ा है। यह अभी 37,121 अंक पर चल रहा है। कोटक सिक्योरिटीज की उपाध्यक्ष (शोध) टीना विरमानी ने कहा, ‘‘घरेलू मोर्चे पर कंपनियों की आमदनी तथा विभिन्न क्षेत्रों में मांग में सुधार से बाजार की धारणा तय होगी। वैश्विक स्तर पर देखा जाए तो कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट काफी महत्वपूर्ण होगी।’’ सैमको सिक्योरिटीज एंड स्टॉकनोट के संस्थापक एवं सीईओ जिमीत मोदी ने कहा कि शेयर बाजारों के लिए वैश्विक स्तर पर ब्याज दरें, अंतरराष्ट्रीय व्यापार विवाद, मुद्रा का उतार चढ़ाव और मुद्रास्फीति को लेकर संभावना महत्वपूर्ण होगी। इस साल राज्यों के चुनाव बाजार के लिए महत्वपूर्ण घटनाक्रम होगा जिससे बाजारों की दिशा तय होगी। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि सबसे पहले वैश्विक वित्तीय बाजारों में स्थिरता आनी चाहिए। व्यापार और मुद्रा के उतार-चढ़ाव पर अंकुश लगना चाहिए। यदि यही स्थिति कायम रहती है तो व्यापार और मुद्रा युद्ध का असर अगले 12 महीने तक दिखाई देगा।

Let’s block ads! (Why?)


Source link



Sunnywebmoney.Com


CONTACT US




Newsletter


Categories