24. May 2018 India92°F

Education Archives - Sunnywebmoney.com

SunnyMay 24, 2018
meghalya_result_2848835_835x547-m.jpg

2min00


मेघालय बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन (MBOSE) शुक्रवार 25 मई को 10वीं (SSLC) और 12वीं आर्ट्स (HSSLC) का परिणाम घोषित करने जा रहा है। परिणाम बोर्ड की आॅफिशियल वेबसाइट megresults.nic.in पर जारी किया जाएगा। स्टूडेंट बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट के अलावा इन वेबसाइट्स पर भी अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। meghalayaonline.in, results.net और examresults.net।

पिछले साल 10वीं का रिजल्ट 54.04 प्रतिशत रहा था
इससे पहले मेघालय बोर्ड ने इस माह 10 तारीख को 12वीं साइंस, कॉमर्स और वोकेशनल स्ट्रीम के रिजल्ट घोषित कर दिए थे। मेघालय बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन द्वारा इस साल 10वीं और 12वीं क्लास की परीक्षाएं 6 मार्च से शुरू होकर 29 मार्च तक चली थी। साल 2017 में 10वीं क्लास का परिणाम 54.04 प्रतिशत रहा था।

ऐसे चेक करें अपना परिणाम

— सबसे पहले मेघालय बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट megresults.nic.in को लॉग इन करें।

— यहां पर दिए गए सेकेंडरी स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन 2018 और हायर सेकेंडरी स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (आर्ट्स) 2018 के लिंक पर क्लिक करें।

— नीचे दिए गए बॉक्स में अपना रोल नंबर और पूछी गई जानकारी डालकर सब्मिट करें।
— स्क्रीन आपके सामने आपका रिजल्ट ओपन हो जाएगा, जिसका प्रिंटआउट निकालकर अपने पास रख सकते है।

25 मई को जारी होगा गोवा 10वीं बोर्ड का रिजल्ट
गोवा बोर्ड एसएससी रिजल्ट 2018 कल यानी शुक्रवार 25 मई को जारी किया जाएगा। रिजल्ट गोवा बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट http://www.gbshse.gov.in पर देखा जा सकेगा। गोवा में 10 वीं बोर्ड की परीक्षाएं 29 अप्रेल को ही खत्म हुई थीं। जीबीएसएचएसई एसएससी रिजल्ट 25 मई को दोपहर तक आने की उम्मीद है। पिछले साल भी इसी समय रिजल्ट जारी किए गए थे। वर्ष २०१७ में भी १०वीं बोर्ड का रिजल्ट २५ मई को ही जारी किया गया था।

बोर्ड ने १२वीं क्लास का रिजल्ट २८ अप्रेल को ही जारी कर दिया था। १२वीं क्लास का पास परसेंटेज ८४.३० रहा था। रिजल्ट डिक्लेयर करने के बाद उम्मीद की जा रही है कि बोर्ड २७ मई को स्कूलों तक मार्क शीट पहुंचाने का काम करेगा। स्टूडेंट्स को अपना रिजल्ट देखने के लिए अपना रोल नंबर साथ में रखना होगा।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 24, 2018
default_500.png

1min00


अमर उजाला ब्यूरो, शिमला
Updated Thu, 24 May 2018 06:53 PM IST

ख़बर सुनें

हिमाचल के सीएंडवी शिक्षकों को शिक्षा विभाग ने बड़ी राहत दी है। प्रदेश के हजारों सीएंडवी शिक्षकों को डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजूकेशन (डीएलएड) कोर्स न करने की छूट मिल गई है।

सरकार ने इस मामले पर कानूनी राय लेने के बाद 29 जुलाई 2011 से पहले नियुक्त भाषा व शास्त्री अध्यापकों को डीएलएड की शर्त से बाहर करने का फैसला लिया है। शिक्षा विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। 


आगे पढ़ें

मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री के समक्ष उठाया था मामला

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 24, 2018
result_2-m.jpg

1min00


द गुजरात सेकंडरी एंड हायर सेकंडरी एजुकेशन बोर्ड (जीएसएचएसईबी) 28 मई को 10वीं बोर्ड का परिणाम घोषित करेगा। स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट – www.gseb.org.in पर देख सकते हैं। सीनियर सेकंडरी एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट सुबह 8 बजे देख सकते हैं। एसएससी और एसएचसी एग्जाम्स 12 मार्च से शुरू हुए थे। इससे पहले बोर्ड की तरफ से 12वीं क्लास साइंस का रिजल्ट 9 मई को जारी किया जा चुका है।

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 24, 2018
Scholarship_Examination_for_Promotion_of_Education_1527158984.jpg

1min00


विराट कोहली की गर्दन में चोट लगी, सरे के लिए काउंटी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे-बीसीसीआई

पीएनबी घोटाला: प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के खिलाफ पहला चार्जशीट दायर किया

तूतीकोरिन हिंसा: TNPCB ने स्टरलाइट प्लांट को तुरंत बंद का आदेश दिया, बिजली काटी गई

छत्तीसगढ़: प्रेशर बम विस्फोट में CRPF के उप निरीक्षक की मौत, जवान घायल

पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार 11वें दिन बढ़ोत्तरी, दिल्ली में पेट्रोल 77.47 रुपये

निपाह वायरस: एक ही परिवार के चौथे सदस्य की मौत, मृतकों की संख्या बढ़कर 12 हुई

चीन की पाक को सलाह- आतंकी हाफिज सईद को किसी दूसरे देश में कर दे शिफ्ट

विराट कोहली को स्लिप डिस्क समस्या नहीं, कम काउंटी मैच खेलेंगे-बीसीसीआई

इराक के उत्तरी बगदाद पार्क में आत्मघाती हमले में 7 लोगों की मौत

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 24, 2018
dating-school-in-china_1527141804.jpeg

1min10


आप को डेटिंग पर जाना है? क्या आप को डेटिंग के तौर-तरीके पता हैं? क्या आप को मालूम है कि प्यार-मोहब्बत की मुलाकातों बातों में आप को हमेशा बेहद संवेदनशील और अपने साथी के जज़्बातों का खयाल रखने वाला होना है? क्या आप को मालूम है कि कामयाब डेटिंग के लिए आप को अच्छे से डांस करना आना चाहिए?

अगर आपका जवाब ना है, तो इन मुश्किलों का हल है हमारे पास। चलिए आज आप को ले चलते हैं चीन के डेटिंग स्कूल में, जहां लोगों को ट्रेनिंग दी जाती है, कामयाब डेटिंग की। चीन, आबादी के लिहाज से दुनिया का सबसे बड़ा देश है। यहां लड़कों की तादाद लड़कियों के मुकाबले ज्यादा है।

इसकी वजह चीन की वन चाइल्ड पॉलिसी रही, जिसमें लोगों को एक ही बच्चा पैदा करने की इजाजत थी। इससे सेक्स रेशियो बिगड़ गया। आज के चीनी युवाओं की मुश्किल ये है कि लड़कियों को डेटिंग के लिए रिझाने के लिए, सख्त मुकाबला करना पड़ रहा है। इसीलिए वहां डेटिंग स्कूल और कोचिंग खुल रहे हैं।

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 24, 2018
admission_1527135409.jpeg

1min00


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सूरत
Updated Thu, 24 May 2018 10:09 AM IST

ख़बर सुनें

सूरत के जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने 2,252 पैरेंट्स के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी कर रहे हैं। इन सभी ने अपने बच्चों का शिक्षा के अधिकार कानून के तहत दाखिला करवाने के लिए फर्जी आय प्रमाण पत्र जमा करवाए थे। डीईओ ऑफिस के सूत्रों के अनुसार सूरत शहर के विभिन्न केंद्रों से शिक्षा के अधिकार कानून के तहत स्कूलों से दाखिले के लिए 9,410 आवेदन मिले हैं।  

एक महीने लंबी चलने वाली पूछताछ के बाद शहर के प्रधान अधिकारी ने पाया कि 9,410 आवेदनों में से जमा किए गए कुल 2,252 आवेदकों ने तहसीलदार की मुहर के साथ फर्जी आय प्रमाण दस्तावेज जमा करवाए हैं। इस मामले पर सूरत शहर के प्रधान अधिकारी बीएस पटेल ने कहा, “जांच में हमने पाया कि लगभग 2,252 नकली आय प्रमाण पत्र दस्तावेजों में से 1000 के लगभग यह दस्तावेज केवल सूरत शहर के पूना क्षेत्र के हैं। हमने निजी तौर पर छानबीन की और पाया कि कुछ दलाल इस रैकेट में शामिल हैं।”   

सूरत के जिला शिक्षा अधिकारी यूएन राठौड़ ने कहा, हम जिला अधिकारी के आदेशानुसार कार्रवाई करेंगे और पैरेंट्स के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए केस दर्ज करेंगे। बता दें कि शिक्षा के अधिकार के तहत सरकार की तरफ से हर बच्चे को शिक्षा देने का नियम है। इसके अंतर्गत निजी स्कूलों में भी गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले बच्चों का दाखिला करवाया जाता है। दाखिले के लिए पैरेंट्स को अपनी सभी स्रोतों से होने वाली कमाई का पूरा ब्यौरा देना रहता है। जिसके बाद ही उपयुक्त उम्मीदवार का स्कूल में दाखिला होता है। 

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 23, 2018
aligarh_muslim_university-m.jpg

1min00


द यूएस न्यूज एजुकेशन ने बेस्ट ग्लोबल यूनिवर्सिटीज रैंकिंग में अलिगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को दूसरा स्थान दिया है। वहीं एएमयू के डिपार्टमेंट ऑफ मैथेमेटिक्स को विश्व के बेस्ट डिपार्टमेंट्स की लिस्ट में १२९वां स्थान मिला है। इसके अलावा यूएस न्यूज एजुकेशन ने एएमयू को बायोलॉजी व बायो-कैमिस्ट्री पढऩे के लिए विश्व का ३०५वीं बेहतरीन और फिजिक्स पढऩे के िलए विश्वा का ४६०वीं बेहतरीन यूनिवर्सिटी भी करार दिया है।

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 23, 2018
1527080113_NBT-image.jpg

1min00


लखनऊ

यूपी के मदरसों में अब केवल उर्दू जुबान की ही तालीम नहीं म‍िलेगी, बल्‍क‍ि बच्‍चे यहां हिंदी और अंग्रेजी भाषा भी सीखेंगे। यह फैसला मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ की अध्‍यक्षता में हुई कैब‍िनेट बैठक में ल‍िया गया। इसके ल‍िए कैब‍िनेट ने मदरसा श‍िक्षा बदलाव को मंजूरी मंगलवार को दे दी।

बता दें क‍ि मदरसों में अभी तक उर्दू, अरबी और फारसी की पढ़ाई हो रही थी। मगर अब यहां पढ़ने वाले बच्‍चों के भव‍िष्‍य संवारने के ल‍िए गणित, विज्ञान, अंग्रेजी, कंप्यूटर और सामाजिक विज्ञान जैसे व‍िषय पढ़ाए जाएंगे। मदरसा बोर्ड ने मदरसों के बच्चों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए दीनी-तालीम के साथ-साथ विषयवार और कक्षावार एनसीईआरटी की किताबें पाठ्यक्रम में शामिल करने और उर्दू के साथ हिंदी व अंग्रेजी माध्यम में भी पढ़ाई का प्रस्ताव भेजा था।

मदरसा बोर्ड पोर्टल भी शुरू

प्रदेश सरकार के प्रवक्ता व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि प्रदेश सरकार ने यह कदम बच्‍चों के भव‍िष्‍य को देखते हुए उठाया है। मदरसों के बच्‍चे मुख्‍यधारा से जुड़ सकें, इसल‍िए यह बदलाव हो रहे हैं। हाल ही में मदरसा बोर्ड पोर्टल भी शुरू क‍िया गया था, जिससे मदरसों की श‍िक्षा-प्रणाली में व्‍यापक सुधार आया है।

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 23, 2018
default_500.png

1min20


अमर उजाला ब्यूरो, शिमला
Updated Wed, 23 May 2018 12:55 PM IST

ख़बर सुनें

हिमाचल के सरकारी स्कूलों, कॉलेजों, डाइट, एससीईआरटी और जिलों में स्थित पुस्तकालयों में तैनात करीब 550 असिस्टेंट लाइब्रेरियनस को लाखों रुपये तक का एरियर देने के आदेश जारी हो गए हैं। उच्च शिक्षा निदेशालय ने सभी प्रिंसिपलों सहित पुस्तकालय अध्यक्षों को 31 मई तक एरियर की राशि चुकाने को कहा है।

यूजीसी स्केल में शामिल होने पर इन कर्मचारियों को वित्तीय लाभ मिलेगा। करीब आठ साल के लंबे इंतजार के बाद असिस्टेंट लाइब्रेरियनों को उनका हक मिला है। साल 2009-10 में दस असिस्टेंट लाइब्रेरियनों को राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर यूजीसी स्केल में शामिल किया था।

साल 2010-11 में जारी की गई नई अधिसूचना में इन्हें प्रदेश सरकार के स्केल में रख दिया। अधिसूचना में हुए इस बदलाव के खिलाफ असिस्टेंट लाइब्रेरियन हाईकोर्ट चले गए थे। हाईकोर्ट से असिस्टेंट लाइब्रेरियनों के हक में फैसला आया था। 


आगे पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट ने कर्मचारियों के हक में दिया फैसला

Let’s block ads! (Why?)



Source link


SunnyMay 23, 2018
22PAT_22RAJGIR08_1527004510_1527004510.JPG

1min00


नालंदा मलमास मेला में लगे शिक्षा विभाग के स्टॉल पर बिहार सरकार द्वारा चलायी जा रही शिक्षा योजनाओं की पूरी जानकारी दी जायेगी। इसके लिए यहां पर ट्रेंड कर्मी रहेंगे जो आने वाले तीर्थयात्रियों को शिक्षा संबंधी योजनाओं की पूरी जानकारी देंगे। सरकारी स्कूलों में गरीब परिवार के बच्चे शिक्षा लेते हैं। इस कारण सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में एकरूपता लाने का प्रयास हो रहा है। शिक्षा विभाग की इस पर नजर है। उक्त बातें शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने मंगलवार की शाम मलमास मेला के कृषि मेला सह ग्रामश्री मेला कैम्पस में शिक्षा विभाग के स्टॉल का उद्घाटन करते हुए कहीं। श्री वर्मा ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। शिक्षा पर सबों की विशेष नजर है। शिक्षा हमारी प्राथमिकता है। चाहे प्राथमिक शिक्षा हो या सेकेण्ड्री और हाइयर सेकेण्ड्री सबों में सुधार के लिए कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। लड़के हों या लड़की सभी एक छत के नीचे शिक्षा ले रहे हैं। श्री वर्मा ने कहा कि सरकारी विद्यालयों में बेहतर व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना हमारे लिए चुनौती है। उन्होंने कहा कि सूबे में 19000 शिक्षकों की नियुक्ति का मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। जैसे ही उस पर निपटारा होगा उसके बाद तेजी से बहाली की प्रक्रिया शुरू होगी। इसके अलावा स्कूलों में गेस्ट टीचर की बहाली की प्रक्रिया सूबे में शुरू हो गयी है। मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि गरीब परिवार के वैसे छात्र जो उच्च शिक्षा पैसे के बिना नहीं ले पा रहे हैं, उसके लिए सरकार ने स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की है। सरकार ने अब यह लोन शिक्षा वित्त निगम से देने का रास्ता चुना है। इससे छात्रों को आसानी से लोन मिल जायेगा और वे अपनी सुविधा अनुसार जब वे सक्षम होंगे तब मूलधन ही वापस करेंगे। आने वाले दिनों में सरकार इस चार लाख की राशि को बढ़ाने की योजना बना रही है। वहीं मंत्री ने विधायक रवि ज्योति कुमार के उठाये गए राजगीर डिग्री कॉलेज इस पर आगे की कार्रवाई की जायेगी। विधायक रवि ज्योति कुमार ने कहा कि राजगीर में डिग्री कॉलेज का जल्द उद्घाटन हो ताकि बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए दूर नहीं जाना पड़े। वहीं उन्होंने यह भी बात रखी कि कन्या विद्यालय को उत्क्रमित कर हाईस्कूल बनाने की बात भी कही। मौके पर विधायक चन्द्रसेन प्रसाद, जदयू नेता वीरेन्द्र कुमार सिंह, डीईओ रामसागर सिंह, डीपीओ दिनेश्वर मिश्र, शंकर प्रिय, एडीपीसी जीतेन्द्र पासवान, बीईओ रघुनंदन चौधरी, अनीता गहलौत, मीरा कुमारी, सुबेन्द्र राजवंशी आदि थे।

Let’s block ads! (Why?)



Source link