Blog - earn money online hindi news: Sunnywebmoney.com

Bring to the table win-win survival strategies to ensure proactive domination. At the end of the day, going forward, a new normal that has evolved from generation.
SunnyNovember 17, 2018
trx-1-hour-7.jpg

3min10

The cryptocurrency market has been trying hard to escape the bear attack but to no avail. At press time, the market was still bleeding red after a week of turbulent price movements. Bitcoin [BTC], Ethereum [ETH] and Tron [TR] were all sliding with sporadic bull spikes.

1-hour

The one-hour chart shows that the price drop has been quite acute. The support has been holding at $0.0176. The immediate resistance, which is relatively low, has maintained at $0.0298. The price downtrend brought the prices down from $0.0217 to $0.0194.

The MACD indicator has been moving towards the bear zone, which is a sign of the price drop. The signal line and the MACD line are both moving parallel and is targetting the bottom of the graph. The MACD histogram which has been tending close to the axis has picked up just a bit after the drop.

The Relative Strength Index has been hanging near the oversold zone, indicating the selling pressure being more than the buying pressure.

1-day

The one-day graph reflects the one-hour trend, putting the cryptocurrency square in the middle of the bear’s kingdom. The one-day support has been maintaining at $0.018, while the downtrend has taken the price down from $0.0701 to $0.0248.

The Bollinger bands have just started to diverge, indicating an immediate outbreak. The bands have moved in a pipe like formation, which shows the lack of major trend changes.

The Chaikin Money Flow indicator has risen above the axis, which is a bullish trend. The bullish spike also means that the amount of money coming into the market has increased.

Conclusion

The bear’s pressure has remained strong over the course of time with most of the indicators showing the same. The Bollinger bands, MACD, and the RSI all take the side of the bear while the CMF votes for the bear to rule.

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
17_11_2018-767pi_18648105.jpg

1min20

Publish Date:Sat, 17 Nov 2018 11:39 PM (IST)

मुंबई। दो साल की बच्ची के अभिनय और कहानी ने दर्शकों को इस कदर बांध कर रखा कि वे इमोशनल हो गए और फिल्म देखकर उनके मुंह से तारीफ ही निकली। हम बात कर रहे हैं फिल्म पीहू की जो सिनेमाघरों में दस्तक दे चुकी है और बॉक्स अॉफिस पर अच्छा परफॉर्म कर रही है। इस फिल्म के निर्देशक बने विनोद कापड़ी ने जागरण डॉट कॉम से बातचीत करते हुए चुनौतियों के बारे में बताया कि किस प्रकार दो साल की बच्ची के साथ पूरी फिल्म की शूटिंग की गई।

विनोद कापड़ी की फिल्म पीहू को कई फिल्म फेस्टिवल्स में सराहा गया है। जब विनोद से पूछा गया कि पीहू की कहानी को फिल्माना कितना चुनौतियों से भरा था चूंकि इसमें महज दो साल की बच्ची को अभिनय करते दिखाना था और इस कहानी पर लोगों ने शुरूआत में बिल्कुल भी भरोसा नहीं किया था। जवाब में विनोद ने कहा कि, ”हां शुरूआत में सभी लोगों ने इस कहानी पर भरोसा नहीं दिखाया था। अब जब फिल्म अच्छा कर रही है तो सबके अच्छे कमेंट्स आ रहे हैं। फिल्म को दर्शकों का प्यार मिल रहा है। फिल्म नेशनल अवॉर्ड के लिए भी नॉमिनेट हुई लेकिन अवॉर्ड मिला नहीं। हमें दर्शकों पर पूरा भरोसा हमेशा से था और वे इस फिल्म को पसंद कर रहे हैं। इसलिए फिल्म की कहानी का दर्शकों तक पहुंचना बहुत जरूरी था। फिल्म की शूटिंग आसान नहीं थी क्योंकि फिल्म की कहानी दो साल की बच्ची पर केंद्रित है। दो साल की बच्ची का अभिनय बहुत महत्वपूर्ण था। 

आगे विनोद बताते हैं कि, मेरी यह फिल्म आईएफएफआई तक पहुंची इस बात की मुझे ख़ुशी है लेकिन मुझे दर्शकों का इंतजार शुरुआत से था। क्योंकि सिनेमा से जुड़े फेस्टिवल किसी भी फिल्म का भाग्य तय नहीं कर सकते। मुझे लगता है कि नया फिल्ममेकर या स्टोरीटेलर जो भी है उसकी कहानी को सुना जाना चाहिए। यह मुंबई के स्टूडियो का काम है कि वो कहानी को सुने। जब कहानी को सुनेंगे और समझेंगे तभी तो फिल्म बनाएंगे। पीहू की बात की जाए तो शुरूआत में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कोई कहानी सुनने को ही तैयार नहीं था। चूंकि आप बिना सुने कैसे यह निर्णय कर सकते हैं कि कहानी अच्छी है या खराब। 

यह भी पढ़ें: Box Office : दो साल की बच्ची ने सनी देओल को दिखाया ढ़ाई किलो का दम, पीहू को इतनी ओपनिंग

आपको बता दें कि, दो साल की एक बच्ची के अकेले घर में रहने की कहानी पर बनी फिल्म पीहू ने तमाम तारीफ़ों के बाद बॉक्स ऑफिस पर भी झंडे गाड़ दिए हैं। इस फिल्म को 45 लाख रूपये की ओपनिंग मिली है। फिल्म पीहू ने घरेलू बॉक्स ऑफिस पर पहले दिन 45 लाख रूपये का बिज़नेस किया है। सिद्धार्थ रॉय कपूर और रॉनी स्क्रूवाला प्रोड्यूस इस फिल्म में कोई छोटा या बड़ा कलाकार नहीं है। सिर्फ़ एक छोटी सी दो साल की बच्ची है जो घर में अकेले है। यह फिल्म विश्व सिनेमा की पहली फिल्म है जिसमें 2 साल की बच्ची के अलावा दूसरा कोई किरदार आपको नजर भी नहीं आता। वो परिस्थितिवश पूरे घर में अकेली है और सुबह उठने के बाद पूरा दिन अकेले बिताती है। इस दौरान जो घटनाएं होती है वो लोगों को इमोशनल कर जाती हैं। बताया जा रहा है कि, इस फिल्म को माउथ पब्लिसिटी के जरिये शनिवार और रविवार को अच्छा कलेक्शन मिल सकता है। फिल्म पीहू का गाना पीहू पुकारे रिलीज हो चुका है जिसे पसंद किया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: प्रियंका के होने वाले पति को है डायबिटीज़, पर सब All Is Well

Posted By: Rahul soni

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
Blockchain_feature.jpg

8min30

Bitcoin, in its game of Snake and Ladder, has been caught up with snakes and snakes only — one after the other. This week was no special. The cryptocurrency plunged by $1,000 to $5.3K on November 15, after maintaining some consistency for nearly six months at $6.5K.

Ethereum, having lost around $4 Bn of market cap has now been ranked at number 3, behind Ripple. The entire cryptocurrency market cap, this week, has come down by approx. $30 Bn, to $182 Bn.

Nobel laureate Paul Krugman, in his The New York Times Column ‘Transaction Costs and Tethers: Why I’m a Crypto Skeptic’ had once pointed out, “…cryptocurrencies have made very few inroads into actual commerce. A few firms will accept them as payment, but my sense is that this is more about signaling — look at me, I’m cutting-edge! — than about real usefulness.”

With increasing electricity cost and plunging Bitcoin value, while Bitcoin mining has gone for a toss, is Paul Krugman’s skepticism about Bitcoin for real?

Troubling times for Bitcoin. However, this may not be the case for cryptocurrencies at large, as the IMF has now supported the idea of fiat cryptocurrencies.

Let’s take a look at this week’s development!

Governments Could Set Up Their Own Cryptocurrencies, Says IMF

Governments should consider offering their own cryptocurrencies to prevent the systems becoming havens for fraudsters and money launderers, said Christine Lagarde, head of the International Monetary Fund.

According to a The Guardian report, Lagarde said that central banks had to work quickly to establish digital cash for burgeoning networks of private financial transactions or risk their mushrooming into trading networks that were inherently unstable.

Cryptocurrencies Are The Evil Spawn: ECB

While IMF head Lagrade has supported the idea of governments releasing their own fiat cryptocurrencies, European Central Bank (ECB) executive board member Benoit Coeure has stated that cryptocurrencies like Bitcoin are the evil spawn of the 2008 financial crisis, reported Bloomberg.

He further added that was an extremely clever idea, but not every clever idea is a good idea. Speaking at the Bank for International Settlements in Basel, Coeure seconded the Bank for International Settlements (BIS) chief Agustin Carstens’ idea that Bitcoin is a “combination of a bubble, a Ponzi scheme, and an environmental disaster” and said, “Few remember that Satoshi embedded the genesis block with a Times headline from January 2009 about U.K. banks’ bailout. In more ways than one, Bitcoin is the evil spawn of the financial crisis.”

After Celebrity Accounts, Google’s G Suite Twitter Account Hacked, Promising Free Bitcoins

After hackers hacked a series of validated Twitter accounts including retail giant account Target and made millions by promising free Bitcoins last week, it’s now the Google’s G Suite account.

Image Courtesy: TheNextWeb

According to various reports, on November 14, Google’s G Suite’s account fell victim to the same ploy. As done previously in the name Elon Musk, hackers again promised to give away 1-20 free Bitcoins but asked to deposit 0.1 to 2 Bitcoin to a particular wallet for the verification of senders’ addresses.

People believing in validated accounts start sending Bitcoins to the given address and never get any return.

Cryptocurrency Is Not Real Currency: KPMG

Accounting firm KPMG, in its report, ‘Institutionalisation of Cryptoassets’, has maintained that cryptocurrency assets, like Bitcoin do not have all attributes of real currencies and that using Bitcoin as a store of value is a “fool’s errand.”

The report said, “To fulfill the requirements of store of value, cryptocurrencies must be much more stable. Consider for a moment extending a person or entity a loan in a cryptocurrency. The value is too unstable at the moment to be assured repayment. Under these conditions, neither lenders nor borrowers would be willing to take the risk of transacting in cryptocurrencies. After all, extending credit in a currency that risks significant devaluationor borrowing if the value appreciated beyond the borrower’s ability to pay would be a fool’s errand.”

In other news, Tokyo police has arrested eight men in connection with a pyramid scheme that apparently collected about $68.42 Mn in cryptocurrency from 6,000 people. According to reports, the accused are suspected of violating the Financial Instruments and Exchange Law by not registering their business operations with authorities.

Note: We at Inc42 take our ethics very seriously. More information about it can be found here.

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
TRON-TRX-Million-DAPP-Development.jpg

5min30

ADVERTISEMENT

Cryptocurrency, TRON (TRX)–Despite the doom and gloom surrounding the falling crypto market, as prices for Bitcoin and most of the altcoin market reach their relative low for 2018, one currency has managed to find ways to ignite some excitement in the industry of cryptocurrency and blockchain.

TRON, the eleventh largest coin by market capitalization, recently announced the launch of an accelerator program that would help to support and promote developers building DApps and other applications on their platform. In addition to providing resources to developers, the initiative has $1 million in funding attached to help financially invigorate new innovation, with a target on growing both the space of cryptocurrency and the protocol established by the parent company.

ADVERTISEMENT

According to the press release sent out by the TRON Foundation, the blockchain innovation program is set to launch Nov. 17th, giving a small glimmer of hope as market prices continue to see red. TRON was able to recover a few percentage points of the price fall experienced across the board of cryptocurrencies, but–regardless of the current valuation–is doing its part to continue driving interest and furthering development in the industry. As many analysts have pointed out during 2018’s ongoing bearish market, the space of cryptocurrency has grown exponentially in terms of product development and consumer adoption, with industries as far reaching as car manufacturers and social media platforms seek to integrate crypto and blockchain.

Accompanying the press release were a few details on the accelerator program, with the focus seemingly on building novel and interesting projects rather than rehashing what has already been done in terms of cryptocurrency capacity. The early stages of the program are geared towards supporting developers and startups creating DApps using the TRON network, an interesting proposition for creators given the rising transactional volume of TRON and the 600,000+ active TRX wallets,

“TRON Accelerator is a 1,000,000 USD online competition rewarding up to 56 winning DApp projects across multiple categories. First prize features a 200,000 USD reward. Prizes are product based. Teams can submit multiple products and potentially win multiple prizes.”

TRON made tidal waves in the space of cryptocurrency and decentralized technology following its acquisition of peer to peer file-sharing giant BitTorrent, with the company further committed to integrating the service on TRON’s platform via the Project Atlas initiative. Torrenting could be one way that the currency distinguishes itself further in the crowded space of cryptocurrency, but the currency does offer strong networking capacity through the Main Net platform. DApps, such as those currently featured on high profile currency Ethereum, are one of the more invigorating projects to come out of the space of crypto in the last several years.

Rather than relying upon the TRX coin for being another sole-transactional cryptocurrency, founder Justin Sun and the TRON Foundation are continuing to find ways to draw developer interest and attract creators that are willing to construct novel technology in the space of cryptocurrency. Despite this week’s plummet in cryptocurrency valuation, which saw tens of billions wiped from the market capitalization, TRON has committed to investing in the long-term growth of both its platform and the broader industry.

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
17_11_2018-17grp18-c-1_18645970_161326.jpg

1min60

Publish Date:Sat, 17 Nov 2018 04:09 PM (IST)

संवाद सहयोगी, गुरदासपुर : कॉलेज रोड पर स्थित एजुकेशन व‌र्ल्ड में नीट और जेईई के क्रैश कोर्स 18 नवंबर से शुरू किए जा रहे हैं। मैने¨जग पार्टनर सोनिया सच्चर ने बताया कि इस वर्ष जेईई की परीक्षा दो बार जनवरी और अप्रैल तथा नीट की परीक्षा मई के महीने में ली जा रही है। 12वीं में पढ़ते छात्रों और साल ड्रॉप कर चुके छात्रों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है कि वह गुरदासपुर में ही दिल्ली, चंडीगढ़ और कोटा के स्तर की को¨चग बहुत ही कीम फीसों पर ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि संस्था में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और मैथ्स विषयों के उच्च योग्यता प्राप्त अध्यापक हैं, जिनके द्वारा तैयार किया गया स्टडी मटीरियल भी छात्रों को दिया जाता है और छात्रों के रेगुलर टेस्ट व मॉक टेस्ट भी लिए जाते हैं। यह संस्था के छात्रों की सफलता का राज है। उन्होंने यह भी बताया कि सीटें सीमित होने के कारण दाखिला पहले आओ और पहले पाओ की नीति पर किया जाएगा। इसके अतिरिक्त संस्था में हाल ही में शुरू किए गए टेट के बैचों में भी छात्रों का बारी झुकाव देखने को मिल रहा है।

Posted By: Jagran

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
NBT.jpg

1min60

भुवनेश्वर, 17 नवंबर (भाषा) ओडिशा को हाल में संपन्न ‘मेक इन ओडिशा’ शिखर सम्मेलन में 4.19 लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश प्रस्ताव मिले हैं। राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अगले दो साल में इन प्रस्तावों में से 75 प्रतिशत को अमल में लाने का लक्ष्य रखा है। एक अधिकारी ने यह बात कही। उद्योग सचिव संजीव चोपड़ा ने कहा कि निवेश सम्मेलन बृहस्पतिवार को समाप्त हुआ और यह संतोषजनक रहा। उन्होंने कहा कि यह सम्मेलन ओडिशा के औद्योगिक यात्रा में अहम साबित होगा क्योंकि राज्य को 15 विभिन्न क्षेत्रों में 4,19,574 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं। चोपड़ा ने शुक्रवार को कहा, “मुख्यमंत्री ने मेक इन ओडिशा (एमआईओ) में प्राप्त निवेश प्रस्तावों पर दो साल में 75 प्रतिशत काम करने का लक्ष्य रखा है।” निवेश प्रस्ताव के क्रियान्वयन से राज्य में 5,91,000 अतिरिक्त रोजगार सृजित होंगे। उन्होंने कहा, “इस बार 2016 में हुये निवेश सम्मेलन से दोगुने से अधिक निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुये हैं। 2016 में 2.03 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले थे।” निवेशक सम्मेलन को 5,074 उद्योगपतियों और प्रतिनिधियों से बेहतर प्रतिक्रिया मिली। इसमें देश- विदेश के उद्योगपतियों ने भाग लिया। इस दौरान लगाई गई प्रदर्शनी में 31,806 लोग पहुंचे। सम्मेलन में जापान को भागीदार देश के तौर पर शामिल किया गया।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
car_mileage_3722717_835x547-m.jpg

1min70

नई दिल्ली: ठंड ने दस्तक दे दी है। जैसे-जैसे सर्दी बढ़ रही है वैसे वैसे हर इंसान को गर्मी की जरूरत महसूस हो रही है। घर हो या कार हर जगह लोग कुछ दिनों में हीटर का इस्तेमाल आम बात होती है। लेकिन कई बार सर्दी भगाने के लिए हीटर का इस्तेमाल आपकी जेब पर भारी पड़ता है। दरअसल हीटर चलाने पर कार का माइलेज कम हो जाता है। जिसके बाद कार पर होने वाला खर्च बढ़ जाता है। हीटर के इस्तेमाल से हम सर्दी से तो बच जाते हैं लेकिन कार के घटते माइलेज पर से हमारा जोर खत्म हो जाता है। चलिए आपको बताते हैं कैसे आप अपनी और अपनी कार की सर्दियों के मौसम में हीटर से देखभाल करें।

कार को स्टार्ट करते ही हीटर चलाने की गलती कभी न करें ऐसा करने से फ्यूल की बर्बादी लाजमी है क्योंकि उस समय गाड़ी का इंजन ठंडा होता है। बता दें, जब भी आप गाड़ी को स्टार्ट करते हैं तो इंजन को गर्म करने में ज्यादा मात्रा में फ्यूल खर्च होता है और ऐसे में हीटर भी आॅन कर देने से कार का फ्यूल दोगुना खर्च होता है।

इसके साथ ही सबसे आम बात है कार के हीटर को आॅन करने के साथ एसी का बटन भी आॅन हो जाना। ऐसे में जरूरी है कि आप कार के हीटर को आॅन करते समय एसी का बटन बंद करना ना भूलें। इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर आप कार के माइलेज के साथ समझौता करने से बच सकते हैं।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyNovember 17, 2018
1542453493_-.jpg

1min70

प्रतीकात्मक तस्वीर
मुंबई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना की घोषणा की थी। इस योजना का उद्देश्य 2022 तक देश के प्रत्येक नागरिक को अपना घर उपलब्ध कराना है। आज हम आपको बता रहे हैं प्रधानमंत्री आवास योजना से जुड़ी खास बातें।


यहां से मिलेगा लोन


आप कमर्शल बैंकों, हाउजिंग फाइनैंस कंपनियों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों, शहरी सहकारी बैंकों, छोटे वित्तीय बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों आदि से लोन लेकर ब्याज पर उचित सब्सिडी पा सकते हैं। आपको किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस भी नहीं देना होगी। हां, आप योजना के तहत जितना लोन लेने के योग्य हैं, उससे ज्यादा लोन ले रहे हैं तो अतिरिक्त रकम पर आपको नॉर्मल प्रोसेसिंग फीस देनी पड़ सकती है।


कितनी मिलेगी सब्सिडी?


इस योजना के तहत 6 लाख सालाना आय वर्ग के लोगों को 6 लाख रुपये तक का होम लोन मिल सकता है। सरकार इस लोन की ब्याज दर पर 6.5 फीसदी की सब्सिडी देगी। 12 लाख सालाना आय वाले लोगों को 9 लाख रुपये तक का लोन मिलेगा। सरकार इस लोन पर 4 फीसदी की सब्सिडी देगी। 12 से 18 लाख सालाना आय वर्ग के लिए 12 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है। सरकार इस लोन पर 3 फीसदी की छूट देगी।


किसको मिलेगा लाभ?


प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक की उम्र 21 से 55 साल के बीच होनी चाहिए। हालांकि, अगर परिवार के मुखिया या आवेदक की उम्र 50 साल से अधिक है तो उसके कानूनी वारिस को होम लोन में शामिल किया जाएगा।

कितनी होनी चाहिए आमदनी?

EWS (निम्न आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 लाख रुपये और LIG (कम आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 लाख से 6 लाख रुपये के बीच होनी चाहिए। साल में 12 और 18 लाख रुपये तक की आमदनी वाले लोग भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Let’s block ads! (Why?)


Source link



Sunnywebmoney.Com


CONTACT US




Newsletter


Categories