Sunny, Author at earn money online hindi news: Sunnywebmoney.com

SunnyJanuary 18, 2019
1547775333_ANdriod_icon.png

1min10

सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (CISF) ने कई पदों के लिए भर्ती निकाली है. इस भर्ती के माध्यम से हेड कांस्टेबल पदों पर उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा. इन पदों पर आवेदन करने के इच्छुक उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट www.cisf.gov.in पर जाकर इन पदों के लिए अप्लाई करना होगा. आवेदन करने की आखिरी तारीख 20 फरवरी 2019 है.

पदों का विवरण

इन पदों पर कुल 429 उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा और चयनित होने वाले उम्मीदवारों को 25500 रुपये से 81100 रुपये पे-स्केल दी जाएगी. इसमें पुरुष और महिला उम्मीदवारों के पद आरक्षण के आधार पर आधारित किए गए हैं.

योग्यता

इन पदों पर आवेदन करने के इच्छुक उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं और 12वीं पास किया होगा आवश्यक है.

आयु सीमा

वहीं 18 साल से 25 साल तक के उम्मीदवार इन पदों के लिए अप्लाई कर सकते हैं. उम्मीदवारों की उम्र 22 फरवरी 2019 के आधार पर तय की जाएगी. साथ ही एससी-एसटी वर्ग के उम्मीदवारों को उम्र सीमा में 5 साल और ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों को 3 साल की छूट दी जाएगी. उम्र के साथ फिजिकल और मेडिकल योग्यता भी तय की गई है.

आवेदन फीस

आवेदन करने के लिए जनरल और ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों को 100 रुपये फीस का भुगतान करना होगा. उम्मीदवार एसबीआई चालान, डेबिट कार्ज, क्रेडिट कार्ड और नेट बैंकिंग के माध्यम से फीस जमा कर सकते हैं.

आवेदन शुरू होने की तारीख- 21 जनवरी 2019

आवेदन करने की आखिरी तारीख- 22 फरवरी 2019

कैसे होगा चयन

उम्मीदवारों को चयन लिखित परीक्षा, फिजकल और मेडिकल टेस्ट के प्रदर्शन के आधार पर होगा.

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS

Source link


SunnyJanuary 18, 2019
Z

3min10

Business

oi-Vinay Kumar Mishra

|

Updated: Thursday, January 17, 2019, 10:09 [IST]

Forex Market : विदेशी मुद्रा डॉलर के मुकाबले रुपया गुरुवार को 9 पैसे की मजबूती के साथ 71.15 रुपये के स्तर पर खुला। इससे पहले बुधवार को रुपया 20 पैसे टूट कर बंद हुआ था।

Rupee and dolla

जानकारों की राय
जानकारों के अनुसार कच्चे तेल के भाव में आई तेजी से रुपये पर दबाव दिख रहा है। इसके चलते सरकार को तेल आयत पर ज्यादा विदेश मुद्रा खर्च करनी पड़ रही है। इसके चलते डॉलर के मुकाबले रुपये पर दबाव देखा जा रहा है। जानकारों के अनुसार रुपया 70.34 से लेकर 71.37 के दायरे में रह सकता है।

कच्चा तेल महंगा होने का पड़ा असर
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी हुई है। इसका असर घरेलू स्तर पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों के तौर पर पड़ा। यही वजह है कि कई दिनों बाद गुरुवार को पेट्रोल और डीज के दाम में बढ़ोतरी हुई है।

कच्चा तेल महंगा होने के ये है कारण
4 नवंबर से अमेरिकी प्रतिबंध लागू होने के बाद ईरान का कच्चा तेल निर्यात 27 लाख बैरल प्रति दिन से होता था, जो अब घटकर 10 लाख बैरल प्रति दिन रह गया है। अमेरिका ने जिन 8 देशों को ईरान से तेल खरीद की छूट दी थी, उनमें से अब 5 ही उससे आयात कर रहे हैं।

ये भी हैं कारण
– 12 लाख बैरल प्रतिदिन की उत्पादन में कटौती की ओपेक देशों ने
– 30% बढ़ी चीन में तेल की मांग दिसंबर में, आर्थिक सुस्ती के बावजूद
– अमेरिकी शेल ऑयल के उत्पादन में भी कमी दर्ज की गई
– अमेरिकी अर्थव्यवस्था में तेजी से भी तेल की मांग अच्छी रहने की उम्मीद

रुपये की चाल

-रुपया बुधवार को 20 पैसे टूटकर 71.24 के स्तर पर बंद हुआ।
-रुपया मंगलवार को 11 पैसे टूटकर 71.04 के स्तर पर बंद हुआ।
-रुपया सोमवार को 43 पैसे टूटकर 70.93 के स्तर पर बंद हुआ।

यह भी पढ़ें : 2 लाख रुपये सस्‍ती पड़ेगी कार, ये है खरीदने का सही तरीका

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 18, 2019
exam_1542566381.jpeg

2min10

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ
Updated Fri, 18 Jan 2019 12:17 AM IST

परीक्षा केंद्र (सांकेतिक तस्वीर)

ख़बर सुनें

प्रदेश के राजकीय विश्वविद्यालयों से संबद्ध डिग्री कॉलेजों में 31 मार्च तक परीक्षाएं होगी और 15 जून तक सभी परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने सभी विश्वविद्यालयों को सात दिन में परीक्षा कैलेंडर जारी करने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल, प्रदेश के 15 राजकीय विवि से संबद्ध राजकीय और सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में आमतौर पर परीक्षाएं अप्रैल-मई तक होती हैं और जुलाई तक नतीजे घोषित होते हैं। सत्र नियमित करने के उद्देश्य से उच्च शिक्षा विभाग ने राजकीय विवि से संबद्ध 164 राजकीय और 331 सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में परीक्षा 31 मार्च तक पूरी कराने के निर्देश दिए हैं। विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि सभी विवि को परीक्षा का कलैंडर सात दिन में जारी करने के निर्देश दिए गए हैं।


Source link


SunnyJanuary 18, 2019
1547773249_TN_placeholder.png

3min10

Lenders considering resolution plan for Jet Airways: SBI&nbsp | &nbspPhoto Credit:&nbspPTI

Mumbai: State Bank of India (SBI) Thursday said lenders are considering a resolution plan for Jet Airways to ensure the long-term viability of the debt-laden company. 

The SBI statement comes a day after the crisis-hit airline said discussions were “progressing well” with stakeholders on a comprehensive resolution plan that also contemplates equity infusion and consequent changes in its board of directors.

There are rising concerns over the financial health of Jet Airways, whose shares have also taken a beating at stock exchanges.

”We would like to state that lenders are considering a restructuring plan under the RBI framework for resolution of stressed assets that would ensure long-term viability of the company,” SBI said in a statement. 

It said the restructuring plan for the cash-strapped airline would need approval from boards of lenders. “Any such plan would be subject to approval of boards of the lenders and subject to adherence and clearance, if required, from the RBI and/or Sebi (takeover code, ICDR regulations.) and Ministry of Civil Aviation and in compliance with all regulatory prescriptions,” the statement said. 

Shares of the airline are trading 4.24 per cent lower at Rs 259.50 apiece on BSE.

Times Network – India’s Leading Broadcasting Network, uniquely offering English Entertainment, best in class News channels & Bollywood Masala, available at a Value pack (7 channels) of Rs 13/- per month.

Please contact your cable/DTH service provider now and ensure that your TV viewing experience is complete. To know more click here.
 

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 18, 2019
v47o1tc8_pm-modi_624x370_17_January_19.jpg

1min10


नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को को दावा किया कि उनकी सरकार में पिछले साढ़े चार साल में देश में विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के करोड़ों अवसर पैदा हुए हैं.स्वतंत्र परामर्श दाता संगठन सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) ने हाल ही में अनुमान व्यक्त किया था कि देश में 2018 में 1.10 करोड़ लोगों को नौकरियां गंवानी पड़ी।.ऐसे में मोदी का यह दावा महत्वपूर्ण हो जाता है. उन्होंने अहमदाबाद में एक खरीदारी महोत्सव का उद्घाटन करने के बाद कहा, ‘‘चाहे पर्यटन हो या विनिर्माण या सेवा क्षेत्र, पिछले साढ़े चार साल के दौरान रोजगार के करोड़ों अवसर सृजित हुए हैं.”

यह भी पढ़ें- रवीश कुमार का BLOG: पकौड़े के पीछे नौकरी के सवाल से भागती मोदी सरकार

वर्ष 2017 में तत्कालीन केंद्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा था कि देश की आर्थिक वृद्धि से रोजगार सृजन में फायदा नहीं हो पा रहा है.मोदी ने कहा कि सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) की हरसंभव तरीके से मदद कर रही है। उन्होंने इस क्षेत्र के लिये उठाए गए विविध कदमों का भी जिक्र किया.उन्होंने कहा कि ब्याज में छूट की योजना को बढ़ाकर पांच प्रतिशत करने तथा इसमें मर्चेंट निर्यातकों को भी शामिल करने से निर्यातकों को 600 करोड़ रुपये तक का फायदा होगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने छोटे उद्यमियों के लिये सरकारी ई-मार्केटप्लेस तैयार किया है. उन्होंने कहा कि अब तक इसके जरिये 16,500 करोड़ रुपये का व्यापार हुआ है.    

पीएम मोदी ने कहा कि देश एक ऐसी व्यवस्था की तरफ बढ़ रहा है जहां जीएसटी रिटर्न के आधार पर बैंक कर्ज देंगे. उन्होंने कहा कि अप्रत्यक्ष कर सुधार को सुचारू बनाने के प्रयास जारी हैं.    उन्होंने इस मौके पर इसरो के संस्थापक विक्रम साराभाई की एक मूर्ति का भी अनावरण भी किया. उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों के मस्तिष्क में विज्ञान के प्रति रुचि विकसित करना ही इस महान वैज्ञानिक को सच्ची श्रद्धांजलि होगी. (इनपुट-भाषा)

टिप्पणियां

वीडियो- दिल्ली में 258 प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना केंद्र, लेकिन चल रहे हैं सिर्फ 15  

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 18, 2019
DB-Logo.jpg

1min10

वित्त विभाग ने सभी विभागों की योजनाओं और उसके परिणाम की जानकारी मांगी है। हालांकि दो बार निर्धारित समय पर जानकारी नहीं देने पर अब बजट पर मंत्री स्तरीय चर्चा से पहले जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। इस पर जो निष्कर्ष आएगा, उस आधार पर नई सरकार योजना को लागू रखने या बंद करने पर विचार कर सकती है।

वित्त विभाग ने सभी विभागों को नोटिस जारी कर आउटकम बजट, जेंडर बजट, युवा बजट और कृषि बजट को लेकर जानकारी मांगी थी। सभी विभागों को पहले 29 दिसंबर तक वित्त विभाग तक जानकारी देनी थी। वित्त विभाग ने वित्त मंत्री के बजट भाषण के लिए विभागों की नई योजनाओं के उद्देश्य, भौतिक व वित्तीय लक्ष्य और उपलब्धियों का ब्योरा भी मांगा था, लेकिन विभागों द्वारा चाही गई जानकारी समय पर मुहैया नहीं कराई गई। बाद में इसकी तारीख बढ़ाकर 10 जनवरी तक कर दी गई थी। ये मियाद भी निकल चुकी है। अब वित्त विभाग ने विभागों को 25 जनवरी तक का और समय दिया है।

इस तरह चार फॉर्मेट में देनी है आउटकम की जानकारी

ए बी सी डी चार प्रपत्रों में विभागों को जो जानकारियां उपलब्ध कराना है, उनमें फॉरमेट ए में योजना या कार्यक्रम के नाम के साथ उसके उद्देश्य और आउटकम बताना होगा। वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए बजट प्रावधान भी मांगे गए हैं। जेंडर बजट में ऐसी योजनाओं की जानकारी मांगी गई है, जिसमें महिलाओं की भागीदारी 100 फीसदी है।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 18, 2019
NBT.jpg

1min20

मुंबई, 17 जनवरी (भाषा) वैश्विक बाजारों में नरमी के बावजूद चुनिंदा शेयरों में लिवाली से बृहस्पतिवार को घरेलू शेयर बाजार लगातार तीसरे दिन बढ़त में रहे। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स करीब 300 अंकों के दायरे में उतार- चढ़ाव के बाद 52.79 अंक यानी 0.15 प्रतिशत की बढ़त के साथ 36,374.08 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 14.90 अंक यानी 0.14 प्रतिशत मजबूत होकर 10,905.20 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में एक्सिस बैंक, एचसीएल टेक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टीसीएस, एचडीएफसी, कोटक बैंक, पावरग्रिड, हीरो मोटोकॉर्प और वेदांता के शेयर 1.91 प्रतिशत तक चढ़ गये। सन फार्मा को सर्वाधिक 5.78 प्रतिशत का नुकसान उठाना पड़ा। नुकसान में रहने वाली अन्य कंपनियों में यस बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, बजाज फाइनेंस, टाटा स्टील, भारती एयरटेल और ओएनजीसी के शेयर 3.31 प्रतिशत तक नुकसान में रहे। तिमाही परिणाम से पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयर 1.12 प्रतिशत तक गिर गये। आशिका समूह के शेयर शोध के अध्यक्ष पारस बोथरा ने कहा कि बड़ी कंपनियों के परिणाम तथा अंतरिम बजट से पहले अनिश्चितता के कारण शेयर बाजार सकारात्मक और नकारात्मक के बीच उतार-चढ़ाव में रहे। उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनियों ने कमजोर रुपये के बीच बाजार को समर्थन दिया। रीयल इस्टेट क्षेत्र में भी बुरा समय बीत जाने की उम्मीद के कारण सकारात्मक गतिविधियां देखी गयीं। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि वैश्विक व्यापारिक तनाव तथा आर्थिक मंदी की आशंका के कारण बाजार की धारणा पर धुंध छाया रहेगा। घरेलू बाजार में बड़े कारकों के अभाव के कारण निकट भविष्य में इसकी चाल एक दायरे में सीमित रहेगी। प्राथमिक आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 90.10 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की। घरेलू संस्थागत निवेशक 304.27 करोड़ रुपये के शुद्ध लिवाल रहे। इस बीच रुपया छह पैसे मजबूत होकर 71.18 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गया। ब्रेंट क्रूड का वायदा 0.95 प्रतिशत लुढ़ककर 60.74 डॉलर प्रति बैरल पर रहा। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट 0.42 प्रतिशत, हांग कांग का हैंग सेंग 0.54 प्रतिशत और जापान का निक्की 0.20 प्रतिशत गिरावट में रहे। हालांकि, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.04 प्रतिशत की तेजी में रहा। यूरोपीय बाजारों में ब्रिटेन का लंदन एफटीएसई 0.82 प्रतिशत, जर्मनी का फ्रैंकफर्ट डीएएक्स 0.35 प्रतिशत और फ्रांस का पेरिस सीएसी40 0.53 प्रतिशत की गिरावट में चल रहे थे।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 17, 2019
kwd_151405_3987802_835x547-m.jpg

1min60

कवर्धा. पार्किंग का पैसा बचाने के चक्कर में लोग यातायात को ठेंगा दिखा रहे हैं। यह देखने के लिए उन्हें कहीं और नहीं बल्कि जिला कलेक्ट्रेट के बाहर नजर घुमाने की जरुरत है। कलेक्ट्रेट गेट के बाहर गाडिय़ां खड़े किए जा रहे हैं।
जिला कलेक्ट्रेट में जहां कलक्टर से लेकर कई विभागीय अफसर बैठते हैं। यहां सबसे बदहाल व्यवस्था पार्किंग की है। कलेक्ट्रेट गेट के बाहर ही मनमर्जी से गाडिय़ां खड़े किए जा रहे हैं। रोजाना गेट के बाहर खड़ी दर्जनों मोटर साइकिलें यातायात को मुंह चिढ़ा रहे हैं। जिला कलेक्ट्रेट की मौजूदा स्थिति को देखकर अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है कि यह जिले का सबसे बड़ा कार्यालय है। गौरतलब है कि कलेक्ट्रेट में कई विभागों का कामकाज होता है। यहां दिनभर दूर-दराज से सैकड़ों लोग शासकीय काम लेकर पहुंचते हैं। व्यवस्था के तहत कलेक्ट्रेट कैम्पस के भीतर पेड पार्किंग बनाई गई है, लेकिन पैसा बचाने के फेर में लोग बेपरवाह हो गए हैं। बेपरवाही में वे यह भी भूल गए हैं कि यहां जिले के सबसे बड़े अधिकारी कलक्टर भी बैठते हैं। ऐसे लोगों को तो केवल अपने पैसा बचाने से मतलब है, परेशानी चाहे कोई भी हो। इस रास्ते से होकर तमाम पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचते हैं। रोज आते-जाते अधिकारियों की नजर गेट के बाहर बेतरतीब खड़े मोटर साइकिलों पर पड़ती है। बावजूद इसके कोई कार्रवाई नहीं की जाती।

छोटी पड़ रही पार्किंग
कलेक्ट्रेट परिसर के भीतर पेड पार्किंग जोन बना हुआ है, जो छोटी पड़ रही है। कार्यालय में रोजाना शासकीय कामकाज के लिए सैकड़ों लोग पहुंचते हैं। पार्किंग शेड गाडिय़ों से लबालब हो जाती है। कुछ तो पार्किंग शेड के बाहर ही जहां-तहां बाइक खड़ी कर देते हैं, जिससे लोगों को आने-जाने में परेशानी होती है। विडंबना तो यह है कि इस दिन कोई यातायात पुलिस भी वहां व्यवस्था सुधारने के लिए तैनात नहीं किए जाते।

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 17, 2019
1547688395_loading.gif

2min80

Business

oi-Vinay Kumar Mishra

|

Updated: Wednesday, January 16, 2019, 10:37 [IST]

Forex Market : विदेशी मुद्रा बाजार में बुधवार को डॉलर (dollar) के मुकाबले रुपये (Rupee) की मजबूत शुरुआत हुई। आज डॉलर (dollar) के मुकाबले रुपया 6 पैसे मजबूत होकर 70.98 रुपये (Rupee) के स्तर पर खुला। इससे पहले मंगलवार को रुपया 11 पैसे कमजोर होकर बंद हुआ था। रुपये की मजबूत शुरुआत से शेयर बाजार को भी सहारा मिला और सेंसेक्स 62 अंक ऊपर खुला। वहीं निफ्टी भी करीब 14 अंक मजबूती के साथ खुला।

Rupee and dollar

रुपये की पिछले दिनों चाल
-रुपया मंगलवार को 11 पैसे टूटकर 71.04 के स्तर पर बंद हुआ।
-रुपया सोमवार को 43 पैसे टूटकर 70.93 के स्तर पर बंद हुआ।

शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत
रुपये की मजबूत शुरुआत ने बुधवार को शेयर बाजार को भी सहारा दिया। आज बीएसई का सेंसेक्स 62 अंक ऊपर होकर करीब 36354 अंक पर खुला। वहीं निफ्टी भी करीब 14 अंक मजबूती के साथ 10897 अंक के स्तर पर खुला।

यह भी पढ़ें : 2 लाख रुपये सस्‍ती पड़ेगी कार, ये है खरीदने का सही तरीका

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

Let’s block ads! (Why?)


Source link


SunnyJanuary 17, 2019
1547688103_TN_placeholder.png

3min60

Representative image&nbsp | &nbspPhoto Credit:&nbspBCCL

Norway: The wife of Norway’s 172nd richest man has been missing for almost 10 weeks when a ransom demand was received. The multi-millionaires missing wife Anne Elisabeth Falkevik is aged 68-year-old.

Falkevik disappeared on October 31, 2018, from her home in Lorenskog, Norway. A hefty ransom of $10.3 million is demanded by the kidnappers in cryptocurrency. The kidnappers of the 68-year-old woman have threatened to harm her if their demands are not fulfilled by the family. 

The Norwegian Police personnel is unable to find any substantial evidence to find out the kidnappers. Norway does not have a high crime rate and it is usually tagged as a safe country. 

The woman who went missing is the wife of Tom Hagen (68), who has an estimated fortune of 1.7 billion kroner (174 million euros or $200 million). Hagen has a real estate business and owns 70 per cent of Elkraft – an electricity company which was founded in 1992.

Times Network – India’s Leading Broadcasting Network, uniquely offering English Entertainment, best in class News channels & Bollywood Masala, available at a Value pack (7 channels) of Rs 13/- per month.

Please contact your cable/DTH service provider now and ensure that your TV viewing experience is complete. To know more click here.

 

Let’s block ads! (Why?)


Source link



Sunnywebmoney.Com


CONTACT US




Newsletter


Categories