Best Return Schemes: इन जगहों पर निवेश करने में मिल सकता है सबसे अच्छा रिटर्न – नवभारत टाइम्स

इन्वेस्टमेंट करते वक्त निवेशकों के मन में पहला सवाल यही होता है कि आखिर किसमें निवेश किया जाए कि अच्छा रिटर्न प्राप्त किया जा सके। दरअसल, अधिक रिटर्न के लिए जरूरी यह होता है कि फिक्स्ड इनकम प्रॉडक्ट्स की जगह मार्केट से जुड़े इन्वेस्टमेंट में पैसा लगाया जाए। आइए, जानते हैं कुछ हाई रिटर्न इन्वेस्टमेंट के बारे में…

  • शेयर्स और स्टॉक्स में निवेश का अर्थ है कि आप इक्विटी असेट्स क्लास से सीधे जुड़ रहे हैं। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या फिर नैशनल स्टॉक एक्सचेंज से जुड़े शेयरों में पैसा लगाने का मतलब सेकंडरी मार्केट से है। यदि आप इनमें इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आपको किसी ब्रोकरेज हाउस के साथ डिमैट अकाउंट खुलवाना होगा।

  • यदि आप किसी बड़े रिस्क से बचना चाहते हैं तो यह जरूरी है कि स्टॉक्स में सीधे निवेश करने की बजाय अलग-अलग सेक्टर्स में पूंजी को देखते हुए पैसा लगाएं। फिलहाल, कुछ वर्षों में सेंसेक्स में रिटर्न का औसत 1-3 और 5 साल के अनुसार क्रमश: 13, 8 और 12.5 पर्सेंट रहा है।

  • अन्य इन्वेस्टमेंट्स के मुकाबले रियल एस्टेट की कीमतों में अस्थिरता बहुत ज्यादा नहीं रहती। सबसे अच्छी बात यह है कि महंगाई के मुकाबले इसकी कीमत अच्छी खासी बढ़ जाती है यानी इसमें निवेश घाटे का सौदा नहीं हो सकता। निवेश करने के लिहाज से यह अच्छा विकल्प हो सकता है।

मार्केट में ज्यादा रिस्क और ज्यादा रिटर्न देने वाले निवेश के ढेरों विकल्प मौजूद हैं। हालांकि, लोग ऐसे ऑप्शंस चुनते हैं, जो आपके पैसों को सुरक्षित रखने के साथ ही टैक्स बचाने में मदद करते हैं। यदि आप इक्विटी में निवेश करने में सहज नहीं हैं तो नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाकर कई विकल्पों को देख सकते हैं।

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम
यदि आपकी उम्र 60 साल से ज्यादा है या यदि आपने 55 से 60 साल के बीच वीआरएस या रिटायरमेंट ले लिया है, या यदि आप एक रिटायर्ड डिफेंस पर्सनेल हैं और आपकी उम्र 50 साल से ज्यादा है तो इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं। इसमें मैच्योरिटी पीरियड 5 साल है और इस पर हर साल 8.3% की दर से इंटरेस्ट मिलता है। 31 मार्च, 30 सितंबर और 31 दिसंबर में से किसी तारीख पर इससे पैसा निकाल सकते हैं। SCSS में आप ज्यादा से ज्यादा 15 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं।

15 वर्षीय पब्लिक प्रोविडेंट फंड

लॉन्ग टर्म के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फंड एक अच्छा चॉइस है। इसमें एक फाइनैंशल इयर में कम से कम 500 रुपये और ज्यादा से ज्यादा 1.5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है। वर्तमान में इस 15 वर्षीय PPF इन्वेस्टमेंट पर हर साल 7.6% इंटरेस्ट रेट मिलता है जो वार्षिक चक्रवृद्धि की दर से बढ़ता रहता है। इस प्लान में जमा की गई पूरी रकम पर आईटी ऐक्ट के सेक्शन 80C के तहत इनकम से डिडक्शन की सुविधा मिलती है। इस स्कीम के तहत कमाया गया ब्याज भी पूरी तरह टैक्स फ्री होता है जिससे PPF परंपरागत निवेशकों के लिए सबसे अधिक टैक्स एफिशिएंट इन्वेस्टमेंट बन जाता है।

Let’s block ads! (Why?)


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *