शेयर बाजार से बंपर रिटर्न पाने के 11 स्मार्ट तरीके – नवभारत टाइम्स


Web Title:stock market,bse sensex,bumper return,स्टॉक मार्केट, बीएसई सेंसेक्स

(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

1/12

विशेषज्ञों का मानना है कि साल 2019 में हालात बेहतर रहेंगे। इसलिए, नए साल में बढ़िया परिदृश्य का फायदा उठाने के लिए आपको निवेश-बचत से जुड़े इन 11 उपायों पर जरूर गौर करना चाहिए। इससे न सिर्फ आपकी आर्थिक रणनीति सुधरेगी, बल्कि आप अपने आर्थिक लक्ष्यों को हासिल करने की ओर तेजी से बढ़ेंगे।

2/12

SIP के कैपिटल गेन का नियमित फायदा उठाएं

SIP के कैपिटल गेन का नियमित फायदा उठाएं

इक्विटी फंड के कैपिटल गेन का फायदा नियमित तौर पर उठाते रहें, क्योंकि इससे आप इक्विटी इंस्ट्रूमेंट में लंबी अवधि के निवेश पर लगने वाले 10 फीसदी कैपिटल गेन टैक्स से बच जाएंगे। दरअसल, पिछले बजट में सरकार ने एक बार फिर एलटीसीजी टैक्स को लागू कर दिया है, जिसके तहत एक साल से अधिक समय तक रखे गए इक्विटी फंड से एक लाख से अधिक आय पर 10 फीसदी का टैक्स लगा दिया गया है। इसलिए आप फंड को एक लाख के कैपिटल गेन को पार करने से पहले ही भुना लें, ताकि आपको टैक्स नहीं देना पड़े।

3/12

लार्ज-कैप फंड के विकल्प पर करें विचार

लार्ज-कैप फंड के विकल्प पर करें विचार

साल 2018 में लार्ज कैप फंड्स का प्रदर्शन बहुत आकर्षक नहीं रहा है और आने वाले साल में भी इसका परिदृश्य बहुत सकारात्मक नहीं है। ऐसे में आप लार्ज-कैप फंड्स के विकल्प पर विचार कर सकते हैं। अगर आप ज्यादा रिटर्न चाहते हैं और अधिक उतार-चढ़ाव को सहन कर सकते हैं, तो मल्टी-कैप फंड्स पर दांव आजमा सकते हैं।

4/12

SIP से बाजार के उतार-चढ़ाव का फायदा उठाएं

SIP से बाजार के उतार-चढ़ाव का फायदा उठाएं

आने वाले साल में लोकसभा चुनाव के दौरान शेयर बाजार में काफी उथल-पुथल रहेगी। बाजार में गिरावट की स्थिति में आप एसआईपी बंद नहीं करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में ही फंड्स कम कीमतों पर शेयरों को खरीदते हैं, जिसका फायदा बाद में मिलता है। इसलिए अगर एसआईपी में अभी तक निवेश नहीं किया है, तो जरूर करें।

5/12

इंट्रेस्ट रेट की नई व्यवस्था का लाभ उठाएं

इंट्रेस्ट रेट की नई व्यवस्था का लाभ उठाएं

आरबीआई ने फ्लोटिंग लोन का इंट्रेस्ट रेट तय करने के लिए एक्सटर्नल बेंचमार्क तय कर दिया है, आप इसका फायदा उठा सकते हैं। अगर किसी बैंक में आपका कोई फ्लोटिंग लोन चल रहा है, तो आप उसे किसी दूसरे बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं, जो आपको कम इंट्रेस्ट रेट ऑफर कर रहा हो।

6/12

इंडेक्स फंड की जगह दिसंबर 2019 निफ्टी कॉल खरीदें

इंडेक्स फंड की जगह दिसंबर 2019 निफ्टी कॉल खरीदें

कभी-कभी फ्यूचर ऐंड ऑप्शंस (एफऐंडओ) रणनीति निवेशकों को इंडेक्स फंड की तुलना में बेहतर रिटर्न दे जाती है। हालांकि, फ्यूचर ऐंड ऑप्शंस में निवेश करने की सामान्यतया सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि यह हाई रिस्क सेगमेंट है और निवेशक को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

7/12

शॉर्ट-टर्म डेट फंड चुनें

शॉर्ट-टर्म डेट फंड चुनें

इंट्रेस्ट रेट को लेकर अनिश्चितता से लॉन्ग टर्म डेट फंड रिस्की बन जाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, ऐसी स्थिति में लॉन्ग टर्म फंड का चयन करना सही नहीं होता। ये फंड इंट्रेस्ट रेट में कमी का फायदा उठाने के लिए लॉन्ग टर्म मैच्योरिटी वाले बॉन्ड में निवेश करते हैं। हालांकि, हाल के दिनों में शॉर्ट टर्म डेट फंड का प्रदर्शन तुलनात्मक रूप से बेहतर रहा है।

8/12

स्थिर रिटर्न, कम टैक्स के लिए एफएमपी में निवेश करें

स्थिर रिटर्न, कम टैक्स के लिए एफएमपी में निवेश करें

डेट म्यूचुअल फंड्स में इंट्रेस्ट रेट का रिस्क होता है। अगर इंट्रेस्ट रेट बढ़ता है, तो डेट फंड में नुकसान होता है। अगर आप इस जोखिम से दूर रहना चाहते हैं, तो फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लांस (एफएमपी) में निवेश कीजिए।

9/12

NPS पर गौर करने का समय

NPS पर गौर करने का समय

इस स्कीम से जुड़ी कुछ दिक्कतों का निदान हुआ है और साल 2018 में निवेश का लोकप्रिय साधन बना है। दिसंबर में केंद्र सरकार ने मैच्योरिटी पर संपूर्ण 60 फीसदी निकासी की रकम को टैक्स फ्री कर दिया।

10/12

यूएस-फोकस्ड फंड्स को न करें नजरअंदाज

यूएस-फोकस्ड फंड्स को न करें नजरअंदाज

अमेरिकी शेयरों में निवेश करने वाले म्यूचुअल फंड्स ने कुछ महीने पहले तक काफी फायदा कमाया, लेकिन पिछले तीन महीनों में उनकी नेट असेट वैल्यू में काफी गिरावट आई है। हालांकि, इससे निवेशकों यूएस-फोकस्ड फंड्स को कमतर नहीं आंकना चाहिए।

Let’s block ads! (Why?)


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *