‘उड़ान’ योजना के तहत इस सप्ताह हो सकती है अंतरराष्ट्रीय मार्ग की घोषणा – News18 Hindi

प्रतीकात्मक फोटो

भाषा

Updated: December 3, 2018, 11:23 PM IST

हवाई यात्रा तक आम लोगों की पहुंच बनाने के लिए शुरू की गई महत्वाकांक्षी ‘उड़ान’ (उड़े देश का आम नागरिक) योजना के अंतरराष्ट्रीय संस्करण की घोषणा इस सप्ताह हो सकती है. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि इसके तहत गुवाहाटी से उड़ान संचालित की जा सकती है. कुछ अंतरराष्ट्रीय स्थानों के लिए सरकार वहनीय कीमतों पर हवाई सेवा की पेशकश की शुरुआत कर सकती है.

उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय हवाई संपर्क योजना उड़ान (आईएसीएस-उड़ान) के तहत विमानन कंपनियों के चयन के लिए अक्टूबर में प्रस्ताव आमंत्रित किए गए थे. यह प्रस्ताव नागर विमानन मंत्रालय व असम सरकार की ओर से एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने मंगाए थे.

नागर विमानन मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि उड़ान योजना के तहत अंतरराष्ट्रीय वायुमार्गों की घोषणा दिसंबर के पहले सप्ताह में की जा सकती है. इसमें उड़ान की शुरुआत गुवाहाटी से होने की संभावना है.

आईएसीएस-उड़ान के मसौदे के अनुसार यह योजना केवल उन राज्यों में लागू की जाएगी जो इसके परिचालन के लिए प्रतिबद्धता दर्शाएंगे और इसके प्रसार को अनिवार्य समर्थन देंगे.असम सरकार ने पिछले साल राज्य की राजधानी गुवाहाटी से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें संचालित करने के लिए व्यवहार्यता अंतर कोष के तौर पर 100 करोड़ रुपये की पेशकश की थी. असम सरकार ने उड़ान योजना के तहत गुवाहटी से अंतरराष्ट्रीय हवाई संपर्क का विस्तार करने के लिये यह पेशकश की.

अंतरराष्ट्रीय हवाई संपर्क कोष (आईएसीएफ) का काम इस योजना के तहत उड़ानें परिचालित करने वाली विमानन कंपनियों को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना है.

केन्द्र सरकार ने उड़ान योजना की घोषणा अक्तूबर 2016 में की थी. इस योजना का मकसद उन एयरपोर्ट और शहरों को हवाई यात्रा से जोड़ना है जो विमान सेवा नहीं जुड़े हैं और जिन एयरपोर्ट पर विमान कम उतरते हैं. इसमें हवाई यात्रा को सस्ता बनाने पर भी गौर किया गया है यही वजह है कि एक घंटे की विमान यात्रा के लिये अधिक से अधिक 2,500 रुपये का किराया तय किया गया है.मार्च 2017 के बाद से दो दौर में नागरिक उड्डयन मंत्रालय 450 घरेलू हवाई मार्गों को आवंटित कर चुका है. तीसरे दौर की भी तैयारी है। उड़ान के तीसरे दौर में हवाई मार्गों को इस माह के अंत तक अंतिम रूप दे दिए जाने की उम्मीद है.

<!—->

और भी देखें

Updated: December 03, 2018 07:02 PM ISTबजट बनाने में जुट गई नई टीम, खुफिया विभाग कर रहा निगरानी

Let’s block ads! (Why?)


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *