कौशल विकास व वित्तीय समावेशन की प्रगति में और प्रयास की जरूरत – दैनिक जागरण

Publish Date:Thu, 29 Nov 2018 11:37 PM (IST)

बहराइच : गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कलेक्ट्रेट सभागार में जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य पोषण, शिक्षा, कौशल विकास, कृषि सेक्टर व इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में टीम भावना के साथ कार्य कर जिले को देश व प्रदेश के अग्रणी जिले की श्रेणी में लाएं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य पोषण, शिक्षा व कृषि सेक्टर में अच्छा कार्य हुआ है, लेकिन कौशल विकास व वित्तीय समावेशन में और प्रयास की जरूरत है।

सीएम ने कहा कि मित्र राष्ट्र नेपाल की सीमा पर स्थित होने के कारण आने वाले विदेशी लोग बहराइच से होकर ही गु•ारते हैं, इसलिए आवश्यक है कि जिले में सड़कों की स्थिति व स्वच्छता बेहतर होनी चाहिए। अधिकारियों को मित्रवत व्यवहार करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज की तरक्की के लिए सबसे महत्वपूर्ण शिक्षा है। विद्यालय का निर्माण कर देने से शिक्षा के स्तर में सुधार नहीं होगा। विकास के लिए आवश्यक है कि विद्यालयों में आने वाले बच्चों को उच्च गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान की जाए। कहा कि शिक्षा क्षेत्र में अच्छा कार्य हुआ है, लेकिन सुधार की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा योजना, अटल पेंशन योजना पर भी चर्चा की। चिकित्सकों की कमी को पूरी करने के साथ टीकाकरण व कुपोषण के खात्मे पर भी चर्चा की। मुख्यमंत्री ने बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के भी निर्देश दिए। सौभाग्य योजना व पं. दीन दयाल उपाध्याय ज्योति योजना के लक्ष्य को 31 दिसंबर तक पूरा करने के निर्देश दिए। कृषि, जल संसाधन, मृदा स्वास्थ्य कार्ड कार्य की भी समीक्षा की। बैठक का संचालन डीएम माला श्रीवास्तव ने किया। इस मौके पर सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल, विधायक सुभाष त्रिपाठी, अक्षयवर लाल गोंड, सुरेश्वर ¨सह, माधुरी वर्मा, मंडलायुक्त सुधेश कुमार ओझा, डीआईजी अनिल कुमार राय, मुख्यमंत्री के डे ऑफिसर शुभ्रांत शुक्ला, सीडीओ राहुल पांडेय, एसपी डॉ. गौरव ग्रोवर समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

Let’s block ads! (Why?)


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *