भ्रष्टाचार लेना और देना दोनों ही गलत : सीएम

चंडीगढ़ : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि सरकार ने भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए कड़े नियमों के साथ-साथ नेताओं, अधिकारियों और कर्मचारियों में यह भाव जागृत किया है कि भ्रष्टाचार लेना और देना गलत है जिसका परिणाम है कि आज हरियाणा की जनता सरकार पर भरोसा करती है और लोगों के मन में आज यह यह भाव है कि हरियाणा में भ्रष्टाचार नहीं होता है। उन्होंने कहा कि आगे भी भ्रष्टाचार पर कड़ी नजर रहेगी और जो भी भ्रष्टाचार में लिप्त पाया जाएगा उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। श्री मनोहर लाल यहां आयोजित प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी में विभिन्न क्षेत्रों में प्रसिद्ध व्यक्तित्वों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने पिंजौर के नानकपुर में बने राजकीय पॉलिटेक्निक का उद्घाटन किया और पंचकूला के सेक्टर -14 में रोजगार भवन की आधारशीला रखी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने भ्रष्टाचार को रोकने की नीति पर कार्य करते हुए ई गवर्नेंस को लागू किया जिससे भ्रष्टाचार को रोकने में बड़ी सफलता मिली। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सबसे पहले समझाएंगे, दिशा दिखाएंगे और अंत में दंडित करेंगे। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को रोकना कठिन कार्य है, लेकिन नामुमकिन नहीं। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर जांच रखना मुश्किल था, लेकिन राज्य के प्रशासन के शासनकाल के बाद हमने सभी स्तरों से भ्रष्टाचार को उखाड़ फेंकने का संकल्प किया और अपने मंत्रियों को प्रतिज्ञा दिलाई कि वे किसी भी भ्रष्ट प्रथाओं में शामिल नहीं होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने पारदर्शी तरीके से मैरिट के आधार पर नौकरियां देना शुरू किया और नौकरियां देने में जो गलत धंधे चलते थे, उन्हें भी बंद किया गया। इसलिए ग्रुप सी और डी पदों में इंटरव्यू सिस्टम को भी खत्म किया। उन्होंने कहा कि पहले रिक्तियों की संख्या के दोगुना अभ्यर्थियों को बुलाया जाता था और उम्मीदवारों को विवेकाधिकार के आधार पर अंक दिए जाते थे। लेकिन हमने न केवल इस बीमार व्यवसाय का पता लगाया 8 लोगों को उनकी भागीदारी के लिए सलाखों के पीछे भी भेज दिया है। अब केवल पारदर्शी तरीके से योग्यता के आधार पर ही नौकरियां दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा देश में पहला ऐसा राज्य में जहां युवाओं को रोजगार परक बनाने के लिए स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी बनाई गई है, जिसमें युवा प्रशिक्षित होकर अपना जीवन यापन कर सकेंगे।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।

(आहूजा)

Let’s block ads! (Why?)


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Sunnywebmoney.Com


CONTACT US




Newsletter


Categories