सक्सेस स्टोरी: टॉप किए बिना भी बने CBSE के हीरो!

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 10वीं बोर्ड के नतीजे जारी कर दिए हैं. इस परीक्षा में 1,31,493 बच्चों ने 90 फीसदी से अधिक अंक हासिल किए हैं, जबकि 27,476 फीसदी बच्चों ने 95 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए हैं. इसमें हर जिले और अलग अलग वर्ग के टॉपर शामिल हैं. इसमें लड़कियों का पास प्रतिशत 88.67 फीसदी रहा और 85.32 फीसदी लड़के पास हुए हैं. इस साल भले ही चार टॉपर्स रहे हैं, लेकिन कई ऐसे छात्र भी हैं, जिन्होंने टॉप ना करके भी सफलता की कहानी लिखी है.

वहीं जालंधर की रहने वाली खुशी गुप्ता परीक्षा से दो महीने पहले स्कूल की चौथी मंजिल से नीचे गिर गई थी, जिसकी वजह से उन्हें काफी चोट आई थी. उसके बाद वह परीक्षा के लिए भी स्ट्रेक्चर पर ही जाती थीं. अब उन्होंने परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन किया है और 73 फीसदी अंक हासिल किए हैं. उन्हें उस दौरान कई फ्रैक्चर और अन्य गंभीर चोट लगी थी. उन्हें परीक्षा में एक राइटर भी दिया गया था, जिसके माध्यम से उन्होंने एग्जाम दिया था.

CBSE: फिर आया 8 साल पुराना पैटर्न, 2 लाख फेल, 3 ने की खुदकुशी

देश के इन हजारों होनहारों में बुलंदशहर की तनिषा अग्रवाल का नाम भी शामिल है, जिन्होंने 98.4 फीसदी अंक हासिल किए हैं. बुलंदशहर जिले से पहला स्थान हासिल करने वाली तनिषा का कहना है, ‘मुझे ये उम्मीद नहीं थी कि मैं जिले में टॉप करुंगी, लेकिन वो शुरुआत से ही अच्छा प्रदर्शन करना चाहती थी. तनिषा अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और शिक्षकों को दे रही है. उनके पिता का कहना है कि तनिषा ने कड़ी मेहनत से पूरे परिवार का मान बढ़ाया है.’

CBSE 10वीं में प्रखर ने किया टॉप, कहा- EXAM का टेंशन नहीं लिया

गुरुग्राम के प्रखर मित्तल, बिजनौर की रिमझिम अग्रवाल, शामली की नंदिनी गर्ग और कोच्चि की श्रीलक्ष्मी ने पहला स्थान हासिल किया. वहीं दिव्यांग वर्ग में गुरुग्राम की अनुष्का पांडा ने 489 अंकों के साथ टॉप किया है. साथ ही गाजियाबाद की सान्या गांधी ने 489 अंक हासिल किए हैं. इस परीक्षा में 1624682 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया था, जिसमें 1408594 फीसदी परीक्षार्थी पास हुए हैं.

Let’s block ads! (Why?)


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Sunnywebmoney.Com


CONTACT US




Newsletter


Categories