24. May 2018 India92°F

बजट की पड़तालः 'कथनी-करनी' में अंतर से दांव पर केजरीवाल सरकार की साख


Publish Date:Fri, 23 Mar 2018 09:44 AM (IST)

नई दिल्ली (जेएनएन)। दिल्ली सरकार ने अगले वित्त वर्ष के लिए ढांचागत विकास की कई योजनाएं शामिल की हैं, इनमें से एक भी योजना पर अगले वित्तीय वर्ष में काम शुरू होता नजर नहीं आ रहा है। कई योजनाएं तो तकनीकी अड़चनों में ही उलझी हुई हैं। हालांकि, सरकार ने इस बार के बजट में सड़क, सार्वजनिक परिवहन एवं अन्य आधारभूत ढांचे के लिए 5,145 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इसमें से 2,568 करोड़ रुपये परिवहन क्षेत्र की योजनाओं, कार्यक्रमों व परियोजनाओं के क्रियान्वयन पर खर्च किए जाएंगे।

सरकार की घोषणाएं और वास्तविक स्थिति पर एक नजर

घोषणा : सरकार ने बजट में कहा है कि मयूर विहार फेज एक से सराय काले खां तक बारापुला फेज एक में जोड़ने के लिए बनाया जा रहा बारापुला फेज तीन एलिवेटेड कॉरिडोर दिसंबर 2018 तक पूरा होगा।

वास्तविक स्थिति : इस योजना के मुख्य भाग के लिए जमीन उपलब्ध होने का मामला अभी विवादों में उलझा है। जमीन मिलने में ही कई माह लगने की संभावना है। योजना पर अब तक 50 फीसद ही हो सका है काम। ऐसे में इस साल योजना किसी भी सूरत में पूरी नहीं हो सकती।

घोषणा : कालिंदी बाईपास योजना पर इस साल काम शुरू होगा

वास्तविक स्थिति : इस योजना को उत्तर प्रदेश की जमीन से गुजरना है। 2006 से योजना अधर में है। इसके लिए केंद्र सरकार की पहल पर दिल्ली सरकार ने उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर उनकी जमीन पर काम करने की अनुमति मागी है। इसके अलावा भी इस योजना को लेकर तमाम अड़चने हैं। हालांकि, यह एक बेहतरीन योजना है, लेकिन इस साल काम शुरू होने की उम्मीद नहीं है।

घोषणा : प्रगति मैदान के अंदर से होती सुरंग सड़क योजना का काम प्रगति पर बताया गया है।

वास्तविक स्थिति : पेड़ों के काटने की अनुमति नहीं मिलने से योजना तीन माह लेट हो चुकी है। अब योजना पर शुरू हो सका है काम।

घोषणा : बाहरी रिंग रोड पर मुनिरका से आर्मी अस्पताल तक सिंगल फ्लाईओवर व बीजे मार्ग पर अंडरपास का काम जून 2018 तक होगा पूरा।

वास्तविक स्थिति : जनवरी 2019 तक भी पूरा नहीं होगा काम। योजना पर 50 फीसद के करीब ही हो सका है काम। बिजी रूट रहने के कारण योजना पर काम करना कठिन है।

घोषणा : सिग्नेजर ब्रिज से कालिंदी कॉलोनी तक एलिवेटेड रोड का निर्माण इसी साल साल होगा शुरू।

वास्तविक स्थिति : अब तक योजना की रूपरेखा तक तैयार नहीं हुआ है और न ही टेंडर प्रक्रिया शुरू हुई है। योजना के लिए कई एजेंसियों से ली जानी है मंजूरी। इस साल काम शुरू होना संभव नहीं है। सरकार ने इस साल भजनपुरा से लेकर भोपुरा सीमा तक एलिवेटेड रोड बनाने की घोषणा की है। हालांकि, यह पिछले साल की योजना है। इस पर भी काम कब तक शुरू होगा, अभी कुछ नहीें किया जा सकता है

By JP Yadav

Let’s block ads! (Why?)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *